Tuesday , 19 January 2021

ओवैसी की बड़ी मेहरबानी… बिहार में हमारी मदद की, अब यूपी और पश्चिम बंगाल में भी करेंगे : साक्षी महाराज

नई दिल्ली (New Delhi) . अपने तीखे और तल्ख बयानों के लिए चर्चित भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और उन्नाव से सांसद (Member of parliament) साक्षी महाराज ने एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को लेकर बड़ा बयान दिया है. अभी हाल ही में असदुद्दीन ओवैसी ने अखिलेश यादव के गढ़ आजमगढ़ का भी दौरा किया था. असदुद्दीन ओवैसी ने पश्चिम बंगाल (West Bengal) और उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में चुनाव लड़ने का भी ऐलान कर दिया है. भाजपा विरोधी पार्टियां लगातार ओवैसी की पार्टी को भाजपा की बी टीम बताती है. इसी बीच भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और उन्नाव से सांसद (Member of parliament) साक्षी महाराज ने ओवैसी को लेकर बड़ा बयान दिया है.

  24 घंटे के दौरान सामने आए कोरोना के 333 से भी कम नए मामले

साक्षी महाराज ने कहा कि जैसे ओवैसी ने बिहार (Bihar) में भाजपा को जिताने में मदद की है, वैसे ही वह उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) और बंगाल में करेंगे. साक्षी महाराज का यह वीडियो सोशल मीडिया (Media) पर काफी वायरल हो रहा है. महाराज का यह जवाब उस समय आया जब उनसे ओवैसी के आजमगढ़-जौनपुर दौरे को लेकर सवाल किया गया था और उन्हें समर्थन मिलने की बात की गई थी. साक्षी महाराज यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा कि बड़ी मेहरबानी.. भगवान उन्हें ताकत दे… खुदा उनका साथ दें, उन्होंने बिहार (Bihar) में हमारा सहयोग किया, अब यूपी में करेंगे बाद में पश्चिम बंगाल (West Bengal) में भी करेंगे.

  प्रैक्टिकल और प्री-बोर्ड की तैयारी कराये बिना बच्चों को परीक्षा के लिए बुलाना अन्याय होगा : सिसोदिया

साक्षी महाराज ने इस दौरान मुसलमानों के लेकर पूछे गए सवालों का भी जवाब दिया. उन्होंने कहा कि हम मुसलमानों का विश्वास जीतने में लगे हुए हैं. 65 सालों से उन्हें तुष्टिकरण की राजनीति के आधार पर डराया गया. उन्होंने दावा किया कि मुझे लगता है कि अब मुसलमानों को यह समझ में आने लगा है कि भारतीय जनता पार्टी ही उनकी हितैषी है. यही कारण है कि मुसलमान अब भाजपा से जुड़े रहे हैं. आपको बता दें कि बिहार (Bihar) विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) में ओवैसी की पार्टी सीमांचल में 5 सीटें जीतने में कामयाब रही. विशेषज्ञों का दावा है कि ओवैसी की पार्टी सीमांचल में नहीं होती तो एनडीए के लिए बिहार (Bihar) चुनाव जीतना मुश्किल हो सकता था.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *