Thursday , 28 January 2021

जानलेवा साबित हो रहे हैं मिनटों में लोन देने वाले चीनी एप्स, कर देते लोगों का जीना मुश्किल


नई दिल्ली (New Delhi) . पैसों की जरूरत किसी को भी पड़ सकती है. रकम छोटी हो या बड़ी अब अप्लाई करने भर की देरी और लोन मिल गया. लेकिन इस तरह के इस्टेंट लोन आपके लिए जी का जंजाल भी बन सकते हैं. झटपट लोन देने का लालच देकर लोगों को फंसाने वालों के कारनामे सुनकर आप भी हैरत में पड़ जाएंगे. लाकडाउन के दौरान चुटकियों में लोन बांटने वाले चाइनीज एप्स के चंगुल में 50 लाख भारतीय फंस चुके हैं. फटाफट लोन के फेर में फंसान के बाद लोगों को मेंटली टार्चर भी किया जा रहा है.

ऐसे में आपको बताते हैं कि ये एप्स किस तरह से लोगों को अपने जाल में फंसाते हैं और इसके लिए आपको क्या सावधानी बरतनी चाहिए. कर्ज लेने वाला गूगल प्ले स्टोर से ऐसे एप डाउनलोड करते हैं. उस वक्त यह शर्त स्वीकार कराई जाती है कि एप को उनकी पर्सनल डिटेल और कांटैक्ट लिस्ट साझा की जा रही है. एप खोलते ही चार पांच परमिशन मांगेगा. जिसमें फोन की कांटेक्ट लिस्ट, कॉल लॉग, मीडिया (Media) फाइल, गैलरी शामिल है. लोग सब कुछ अलाउ करते जाते हैं. क्योंकि उस समय उन्हें पैसों की जरूरत होती है. चीनी एप आपके फोन से सारे फोटो. डेटा एक्सेस कर लेते हैं. इसके बाद एप आपकी सभी फोटोज और कांटैक्ट नंबरों तक पहुंच चुका होता है और उनका मनचाहा इस्तेमाल कर सकता है.

  केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद लॉन्च करेंगे डिजिटल वोटर आईडी कार्ड

झटपट लोन देने के नाम पर कई चीनी एप्स हजारों लोगों को अपना शिकार बना चुके हैं. मुख्य तौर पर लाकडाउन के वक्त इन एप्स ने अपना जाल फैलाया. अगर किसी ने वक्त पर पैसे वापस नहीं किए तो उनकी निजी जानकारियां व्हाट्सअप पर सार्वजनिक कर दी जाती हैं और परिवार के लोगों को धमकी भरे फोन आने लगते हैं. फटाफट लोन देने के नाम पर कई चीनी एप्स 50 हजार लोगों को अपना शिकार बना चुके हैं. लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान इन एप्स ने अपना जाल फैलाया है. 5 से लेकर 50 हजार रुपए तक के लोन केवल 5 मिनट में ही देने को कई एप तैयार रहते हैं. बिनी किसी डाक्यूमेंट और कागजात के ये लोन आपको झट से मिल जाएंगे.

  औद्योगिक क्षेत्र में विकास कार्यों के लिए एक करोड़ मंजूर

लेकिन लोन देने के समय ये आपको नहीं बताते कि इसके बदले 35 प्रतिशत की भारी ब्याज की मांग भी करेंगे. अगर 1 दिन भी पैसा देने की देरी हुई तो 3 हजार की पेनल्टी प्रतिदिन के हिसाब से अलग. मनमाने ढंग से पैनाल्टी चार्ज लगाकर पैसे लेने की कवायद में पहले ये लोगों को दर्जनों फोन कर परेशान करते हैं. यहां तक की उनके परिवार के सदस्यों को भी फोन कर धमकाया जाता है. फिर भी अगर बात नहीं बनी तो व्हाट्सअप ग्रुप बनाकर उसमें पैसे की मांग वाले मैसेज भेजना शुरू कर देते हैं. आपको परेशान करने की हर वह कोशिश करते हैं कि आप आत्महत्या (Murder) तक की सोच लेंगे. रिजर्व बैंक (Bank) ने सलाह दी है कि लोग इस तरह की विवेकहीन गतिविधियों में न फंसे और कंपनी फर्म की पहले की गतिविधियों के बारे में पुष्टि कर लें. ऐसा कर्ज लेकर तेलंगाना में करीब पांच लोग खुदकुशी कर चुके हैं. जिनमें एक साफ्टवेयर इंजीनियर भी शामिल है. हैदराबाद पुलिस (Police) ने लोन एप घोटाले में तीन चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया है.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *