अन्य राज्यों के मुकाबले गुजरात में पेट्रोल-डीजल सस्ता : उप मुख्यमंत्री


अहमदाबाद (Ahmedabad) . उप मुख्यमंत्री (Chief Minister) नितिन पटेल ने आज कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें बढ़ने की वजह से पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ी हैं. हांलाकि अन्य राज्यों के मुकाबले गुजरात (Gujarat) में पेट्रोल-डीजल सस्ता है. इसकी वजह गुजरात (Gujarat) में पेट्रोल-डीजल पर वेट सबसे कम है और इसका बोझ राज्य की जनता पर नहीं डाला.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) (Prime Minister Narendra Modi) ने कल ही बताया था कि 85 प्रतिशत कच्चा तेल विदेश से आयात किया जाता है, क्योंकि भारत में प्राकृतिक तेल मिलने का प्रमाण काफी कम है. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें बढ़ती हैं तो देश में पेट्रोल-डीजल महंगा होता है. पहले क्रूड ऑइल के प्रति बैरल की कीमत 51-52 डॉलर (Dollar) थी, जो आज 60 डॉलर (Dollar) को पार कर गई है. नितिन पटेल ने कहा कि कोरोना महामारी (Epidemic) में केन्द्र समेत राज्य सरकारों की आय घटी है और खर्चा बढ़ा है. जिसे ध्यान में रखते हुए केन्द्रीय बजट में पेट्रोल-डीजल पर सेस का प्रावधान किया है.

  श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए चित्तौड़गढ़ प्रांत ने दी 160 करोड़ रुपये की राशि

ताकि देश के किसानों की मदद की जा सके. हांलाकि सेस का बोझ से जनता को बचाने के लिए पेट्रोल-डीजल की एक्साइज ड्यूटी घटाई गई है. उप मुख्यमंत्री (Chief Minister) ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतें बढ़ने से देश में पेट्रोल-डीजल महंगा हुआ है. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑइल की कीमतें घटने के बाद ही पेट्रोल-डीजल की कीमतों में राहत मिल सकती है. नितिन पटेल के इस बयान के साफ है कि फिलहाल गुजरात (Gujarat) के लोगों को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई राहत नहीं मिलेगी.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *