पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और अमरीका की नई ऊर्जा मंत्री जेनिफर ग्रैनहोम भारत और अमरीका रणनीतिक ऊर्जा साझेदारी को नया स्वरूप देने पर सहमत हुए

नई दिल्ली (New Delhi) . पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने अमरीका की नव नियुक्त ऊर्जा मंत्री जेनिफर ग्रैनहोम के साथ वर्चुअल माध्यम से परिचयात्मक बातचीत की. मंत्री प्रधान ने अमेरिकी ऊर्जा मंत्री जेनिफर ग्रैनहोम को यह पद संभालने और भारत-अमरीका कूटनीतिक ऊर्जा सहयोग व्यवस्था-एसईपी की समीक्षा करने पर बधाई दी. दोनों नेता भारत अमरीकी कूटनीतिक ऊर्जा सहयोग एसईपी को नया स्वरूप देने पर सहमत हुए ताकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) और राष्ट्रपति जो बाईडेन के कम कार्बन उत्सर्जन वाले उर्जा विकल्पों को बढ़ावा देने और स्वच्छ ऊर्जा सहयोग को तेज करने की प्राथमिकताओं को मूर्त रूप दिया जा सके.

  मंत्री देवड़ा ने मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण किया

उन्होंने प्रौद्योगिकी हस्तांतरण के मध्यम से तथा उन्नत स्वच्छ ऊर्जा अनुसंधान में साझेदारी -(पीएसीईआर) के अंतर्गत संयुक्त शोध एवं अनुसंधान (आरएंडडी) को बढ़ावा देने और स्वच्छ ऊर्जा क्षेत्रों जैसे जैव ईंधन, सीसीयूएस, हाइड्रोजन उत्पादन और कार्बन सीक्वेस्ट्रेशन के लिए भी सहमति व्यक्त की. दोनों पक्षों ने भारत अमरीका रणनीतिक ऊर्जा साझेदारी के नए स्वरूप के साथ तीसरी बैठक अति शीघ्र आयोजित किए जाने पर भी सहमति व्यक्त की.

  लोकतंत्र में पंचायत चुनाव का अपना महत्व है : रामसागर

भारत और अमरीका पारस्परिक विशिष्टताओं का भी लाभ उठाए जाने के लिए प्रयासों को तेज करने की इच्छा व्यक्त की, जिसमें अमरीका की उन्नत प्रौद्योगिकी और भारत का बढ़ता ऊर्जा बाजार शामिल है. कम कार्बन उत्सर्जन के साथ स्वच्छ ऊर्जा का यह प्रयास दोनों देशों के लिए विन-विन सिचुएशन वाला होगा. सु जेनिफर ग्रैनहोम ने अमरीकी ऊर्जा मंत्री का पदभार फरवरी 2021 में ग्रहण किया.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *