एक होटल से पुलिस ने करवाए तीन बाल श्रमिक मुक्त

उदयपुर. शहर की भुपालपुरा थाना पुलिस ने भोजनालय पर मालिक दबिश देकर एक बालश्रमिक को मुक्त करा गिरफ्तार कर संचालक को गिरफ्तार किया. वहीं अन्यत्र मानव तस्करी निरोधी यूनिट ने कार्यवाही करते हुए सायरा से सूरत जाने वाली रोडवेज बस से दो बाल श्रमिकों को मुक्त करवा मेट के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है.

उच्चाधिकारियों के निर्देश पर चलाए जा रहे तलाशी अभियान के दौरान भुपालपुरा थाना एसआई महेन्द्रसिंह के नेतृत्व में गठित दल ने शनिवार को यूनिवरसिटी रोड़ पर स्थित गणेश भोजनालय पर दबिश दी. जहां पर काम कर रहे कंथारिया फलासिया क्षेत्र के बाल श्रमिक मुक्त करवाते हुए भोजनालय संचालक रूपसिंह पत्र गोर्धनसिंह चौहान निवासी सिसोदा खमनोर जिला राजसमन्द को गिरफ्तार कर मामला दर्ज किया.

  राजस्‍थान के सालासर बालाजी : 265 साल में पहली बार घरों में ही मना हनुमान जन्मोत्सव

इसी अभियान के दौरान मानव तस्करी निरोधी यूनिट ने सायरा से सूरत जाने वाली रोड़वेज बस में बाल श्रमिक के होने की सूचना मिलने पर शनिवार शाम को मानव तस्करी विरोधी यूनिट प्रभारी श्यामसिंह ने उदियापोल बस स्टेण्ड पर पहुंची रोड़वेज बस की तलाशी ली तो उसमें ओगणा क्षेत्र के दो बाल श्रमिक मिले. जिन्हे कब्जे में लेकर पूछताछ की तो दोनों ने गोगुन्दा से रमेश भाई नाम के व्यक्ति द्वारा बड़ोदरा मजदूरी करवाने के लिए बस में बिठा कर बडोदरा रविभाई के पास भेजने की जानकारी दी. इस पर दोनों बाल श्रमिकों को अपने कब्जे में लेकर सभी को बाल सम्प्रेषण गृह भेज कर रमेश भाई व बड़ोदरा के रवि भाई के खिलाफ मामला दर्ज किया.

  क्वारंटाइन के नियमों का कथित तौर पर उल्लंघन करने पर विदेशी जमातियों पर केस

Check Also

हॉट स्पॉट बन रहे क्षेत्रों पर विशेष फोकस करें-गहलोत

जयपुर (jaipur) . अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण के हॉट स्पॉट …