जो बाइडेन की टीचर पत्‍नी ज‍िल के लिए वाइट हाउस में 9 करोड़ के टॉयलेट निर्माण पर राजनीति गमराई

वॉशिंगटन . अमेरिका में अभी निर्वतमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से सत्ता का हस्तांतरण नहीं हुआ है और नवनिर्वाचित राष्‍ट्रपति जो बाइडेन की पत्‍नी जिल बाइडेन के लिए अमेरिकी राष्‍ट्रपति कार्यालय वाइट हाउस में 1.2 म‍िलियन डॉलर (Dollar) या करीब 9 करोड़ रुपये के टॉयलेट बनाए जाने के मामले में सियासत गर्माई हैं. ये वाइट हाउस के ईस्‍ट विंग में बनाए गए हैं. इस बीच इतने पैसे केवल टॉयलेट पर खर्च करने पर ट्रंप समर्थकों ने इसे करदाताओं के पैसे की बर्बादी बताया है. एक रिपोर्ट के मुताबिक संघीय दस्‍तावेजों से पता चला है कि इन शौचालयों को नया करने का काम फ्रर्स्‍ट लेडी के कार्यालयों के पास किया जा रहा है. इन शौचालयों को बनाने के काम के बारे में कोई डिटेल नहीं दिया गया है लेकिन यह संकेत दिया गया है कि मध्‍य मई तक यह प्रोजेक्‍ट पूरा हो जाएगा. इससे पहले एक लाख 27 हजार डॉलर (Dollar) बाइडेन के आने से पहले वाइट हाउस की ‘सफाई’ के लिए दिया गया था.

  गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर रैली से जुड़ी याचिका पर सुनवाई टली, अब 20 जनवरी को होगी

डोनाल्‍ड ट्रंप को हराने के बाद जो बाइडेन 20 जनवरी को शपथ ग्रहण करने जा रहे हैं. उधर, जो बाइडेन की पत्‍नी जिल बाइडेन (69) भी प्रथम महिला के रूप में एक रेकॉर्ड बनाने जा रही हैं. पेशे से टीचर डॉक्‍टर जिल बाइडेन के पास चार डिग्रियां हैं और वह वाइट हाउस में प्रथम महिला की अपनी जिम्‍मेदारियों को निभाते हुए भी बाहर पढ़ाने का काम जारी रखेंगी. अमेरिका के 231 साल के इतिहास में जिल बाइडेन पहली ऐसी प्रथम महिला होंगी जो वाइट हाउस के बाहर काम करके वेतन हासिल करेंगी.

  आग से नुकसान पर घर को मिलेगी वित्तीय सुरक्षा

जिल बाइडेन नॉर्दन वर्जिनिया कम्‍युनिटी कॉलेज में इंग्लिश की पूर्णकालिक प्रोफेसर हैं. इससे पहले अगस्‍त में अमेरिकी टीवी चैनल के साथ बातचीत में डॉक्‍टर जिल बाइडेन ने कहा था कि वह अगर ‘प्रथम महिला’ बनती हैं तो भी अपना काम जारी रखेंगी. इससे पहले जिल बाइडेन जो बाइडेन के उपराष्‍ट्रपति रहने के दौरान एक सामुदायिक कॉलेज में टीचर थीं. उन्‍होंने आजीवन एक शिक्षक के रूप में बने रहने का प्रण किया है. उन्‍होंने हमेशा से शिक्षा के महत्‍व पर जोर दिया है. उन्‍होंने एक कार्यक्रम में कहा था, ‘मैंने बहुत से प्रवासियों और शरणार्थियों को पढ़ाया है. मैं उनकी कहानियों को प्‍यार करती हूं.’

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *