काेर्ट की अवमानना झेल रहे प्रशांत भूषण ने इस कानून को ही सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती

नई दिल्ली (New Delhi). सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के जजों पर उंगली उठाने के मामले में अदालत की अवमानना झेल रहे वकील प्रशांत भूषण ने अब एक नई बहस को जन्म दिया है. उन्होंने पत्रकार एन राम व पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी के साथ मिलकर अदालत की अवमानना कानून को चुनौती दी है. याचिकाकर्ताओं का कहना है कि यह कानून उनके अभिव्यक्ति के अधिकार का हनन करता है. सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने हाल ही में सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) के चीफ जस्टिसों को लेकर किए गए विवादित ट्वीट के संदर्भ में वकील प्रशांत भूषण को कोर्ट की अवमानना कानून की इसी धारा के तहत नोटिस जारी किया है. राम, शौरी और भूषण ने सम्मिलित रूप से एक याचिका वकील कामिनी जायसवाल के माध्यम से दायर कर कानून के सेक्शन 2 (सी)(आई) की संवैधानिक वैधता का चुनौती दी है.

  पाकिस्तान कोर्ट ने भारत को वकील नियुक्त करने की दी इजाजत

Check Also

Gujarat Hospital Fire : अहमदाबाद के कोविड अस्पताल में आग, 8 कोरोना मरीजों की मौत

गुजरात के अहमदाबाद (Ahmedabad) के नवरंगपुरा में गुरुवार (Thursday) तड़के एक कोविड डेडिकेटेड अस्पताल के …