Saturday , 27 February 2021

‘पेडल-टू-जंगल‘ के लिए तैयारियां जारी : लेकसिटी के सौंदर्य से लेकर प्रकृति के रोमांच से रूबरू होंगे प्रतिभागी


उदयपुर (Udaipur). ईको टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए वन विभाग, ग्रीन पीपल सोसायटी, पर्यटन विभाग “ली टूर डी इंडिया तथा बेला बसेरा रिसोर्ट के संयुक्त तत्वावधान में 11 फरवरी से प्रारंभ होने  वाले साइकिल पर प्रकृति के त्रिदिवसीय रोमांच ‘पेडल टू जंगल‘ के तहत उदयपुर (Udaipur) की नैसर्गिक समृद्धि व ऐतिहासिक शिल्प-वैशिष्ट्य से देश-दुनिया को रूबरू करवाया जाएगा वहीं स्थानीय साईक्लिस्टों को सम्मानित भी किया जाएगा. इसके लिए समस्त तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं.

शहर भ्रमण से शुरू होगी यात्रा: यात्रा संयोजक और ग्रीन पीपल सोसायटी के अध्यक्ष रिटायर्ड सीसीएफ राहुल भटनागर ने बताया कि यात्रा का शुभारंभ एसपी डॉ. राजीव पचार के अतिथ्य में प्रारंभ होने वाली शहर के रिहायशी इलाकों में ‘रश-ऑवर-राइड’ से होगा. इसके तहत सभी प्रतिभागी साईकिल के माध्यम से इस राईड में फील्ड क्लब से प्रारंभ करके फतहपुरा, देवाली, द स्टडी स्कूल, चांदपोल गेट जगदीश चौक, समोर बाग, दूधतलाई रिंगरोड़ से पुनः जगदीश चौक, चांदपोल पुलिया, अंबामाता मंदिर, राड़ाजी सर्कल, रानी रोड, देवाली होते हुए पुनः फील्ड क्लब आकर पहुंचेंगे. इसका उद्देश्य देश के विभिन्न हिस्सों से आने वाले प्रतिभागियों को शहर की ऐतिहासिक, सांस्कृतिक विरासत से रूबरू करवाना है.

  उदयपुर में एक बार वापस 21 मार्च तक निषेघाज्ञा लागू

प्रतिभाओं का करेंगे सम्मान : भटनागर ने बताया कि रश ऑवर राइड के पुनः फील्ड क्लब पहुंचने पर शाम को मुख्य वन संरक्षक आर.के.सिंह व आर.के.खेरवा के मुख्य आतिथ्य में आयोजित कार्यक्रम में शहर की दो खेल प्रतिभाओ जाह्नवी पानेरी व हर्षिता पुष्करना को सम्मानित किया जाएगा. ये दोनो जूडो की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी है और दोनो ही राष्ट्र व राज्य स्तर पर अपना परचम लहरा चुकी है. इसके साथ ही  इस साइकिल रैली में भाग ले रही 55 वर्ष की रेनू सिंघी का भी सम्मान किया जाएगा. वे भूगोल और इतिहास में पोस्ट ग्रेजुएट, दो बच्चों की दादी, एक बैडमिंटन, जिमिंग और रनिंग एफिसिएडो, और एक पेशेवर साइकिल चालक हैं. उन्होंने अपने साइकिलिंग करियर की शुरुआत खरोंच से 51 साल की उम्र में की थी. उन्होंने 4 साल के भीतर, उसने 100, 200, 300, 400 और 600 किमी की लंबी साइकिल घटनाओं को कई बार पूरा किया (जिसमें 3 एसआर और एक फ्लेच भी शामिल है) और कई प्रतिष्ठित पुरस्कार और मान्यताएं हासिल कीं. उसने पिछले चार वर्षों में 42000 किमी से अधिक दूरी तय की है.

  वेदांता चैयमेन अनिल अग्रवाल ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को भेंट की ‘समाधान‘ परियोजना में उगाई स्ट्रॉबेरी

भटनागर ने बताया कि उदयपुर (Udaipur) मंे यह चौथा मौका है जब साईकिल पर जंगल यात्रा का रोमांच का अहसास होगा. यह यात्रा राजस्थान (Rajasthan)के उदयपुर (Udaipur) से प्रारंभ होकर फुलवारी की नाल होते हुए गुजरात (Gujarat) के पोलो फोरेस्ट में जाकर सम्पन्न होगी. उन्होंने बताया कि इस रोमांचक यात्रा में उदयपुर (Udaipur) के आस-पास के ऐतिहासिक महत्व के स्थलों व पर्यटन स्थलों से भी प्रतिभागी रूबरू होंगे. वहीं प्रकृति की गोद में पायी जाने वाली वनस्पतियां, जैव विविधता का रिहर्सल, फोटोग्राफी, बर्ड वॉचिंग आदि भी आकर्षण का केन्द्र होंगे. इस आयोजन के लिए आरएसएमएम, हिन्दुस्तान जिंक (Hindustan Zinc) वेदान्ता, एस्ट्रल पाइप्प द्वारा भी सहयोग किया जा रहा है.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *