गुजरात की निजी स्कूलों ने अनिश्चित काल के लिए बंद की ऑनलाइन कक्षाएं


अहमदाबाद (Ahmedabad). गुजरात में कई निजी स्कूलों ने गुरुवार (Thursday) से ऑनलाइन कक्षाएं अनिश्चित काल के लिए रोक दी हैं. ऐसा राज्य सरकार (Government) के उस आदेश के बाद किया गया है, जिसमें कहा गया था कि जब तक स्कूल फिर से खुल न जाएं, उन्हें छात्रों से फीस नहीं लेनी चाहिए. पिछले सप्ताह जारी अधिसूचना में गुजरात सरकार (Government) ने कोविड-19 (Covid-19) महामारी (Epidemic) के मद्देनजर स्कूल बंद रहने तक स्व-वित्तपोषित स्कूलों को छात्रों से ट्यूशन शुल्क नहीं लेने का निर्देश दिया था.

  सरकार के लापता होने का परिणाम : जोधपुर में 11 पाक शरणार्थियों मौत पर वसुंधरा का गहलोत पर हमला

इसके अलावा शैक्षणिक सत्र 2020-21 में स्कूलों को शुल्क में बढो़तरी करने से भी मना किया गया है. इस कदम से नाखुश गुजरात के लगभग 15,000 स्व-वित्तपोषित स्कूलों का प्रतिनिधित्व करने वाले यूनियन ने ऑनलाइन कक्षाएं रोकने का फैसला किया है.

स्व-वित्तपोषित स्कूल प्रबंधन संघ के प्रवक्ता दीपक राज्यगुरु ने कहा कि राज्य के लगभग सभी स्व-वित्तपोषित स्कूल ऑनलाइन कक्षाएं जारी रखने से इनकार कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि अगर सरकार (Government) का मानना ​​है कि ऑनलाइन शिक्षा वास्तविक शिक्षा नहीं है, तो हमारे छात्रों को ऐसी शिक्षा देने का कोई मतलब नहीं है.

  कोरोना की 30 हजार से ज्यादा जांचे प्रतिदिन की जा रही है : शर्मा

Check Also

रूस ने आखिर तैयार किया कोरोना वैक्सीन

राष्ट्रपति पुतिन ने बताया उनकी एक बेटी को दिया गया टीका मॉस्को . कोरोना वैक्सीन …