नोटों की खेती करने वालों के लिए बनाया कृषि कानून-प्रियंका गांधी


मथुरा (Mathura) . नए कृषि कानूनों के विरोध में कांग्रेस द्वारा आयोजित की जा रही किसान महापंचायतों की कड़ी में मंगलवार (Tuesday) को जिले में महापंचायत हुई. जिसे कांग्रेस महासचिव एवं उप्र प्रभारी प्रियंका गांधी ने सम्बोधित किया. उनके निषाने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) (Prime Minister Narendra Modi) और भारतीय जनता पार्टी रही. उन्होंने किसान कानून को अरबपतियों के लिए बनाया गया कानून बताया. कहा कि पीएम मोदी किसान विरोधी हैं, कानून बनाते समय किसानों से नहीं पूछा गया. डीजल-पेट्रोल (Petrol) और गैस के दाम लगातार बढ़ रहे हैं. नोटों की खेती करने वालों ने ये कृषि कानून बनाया है. ये कानून उन्हीं के लिए बना है.

मथुरा (Mathura) के पालीखेड़ा मैदान में किसान महापंचायत का आयोजन किया गया था. प्रियंका गांधी ने मंच पर पहुंचकर कहा कि मेरा सौभाग्य है कि यहां खड़ी हूं. उन्होंने ‘बांकेबिहारी महाराज की जय’, ‘गिरिराज महाराज की जय’, ‘जमुना मैया की जय’ के साथ अपना भाषण शुरू किया. उन्होंने कहा कि ये धरती मथुरा (Mathura) की धरती है. ये धरती अहंकार को तोड़ती है. भगवान श्रीकृष्ण ने अहंकार में डूबे श्रीइंद्र देवजी के अहंकार को तोड़ने के लिए गोवर्धन पर्वत को उठाकर इस धरती के लोगों की रक्षा की थी. तब से यहां अन्नकूट गोवर्धन पूजा होती है. आज भाजपा सरकार ने भी किसानों के लिए अहंकार पाल लिया है. उन्होंने कहा कि इस सरकार का अहंकार भगवान श्रीकृष्ण तोड़ेंगे. देश की सीमा पर जिन्होंने अपने बेटों को शहीद होने के लिए भेजा है.

  मुंबई में विवाह समारोह में पहुंचे दस गुना ज्यादा मेहमान, कोरोना गाइडलाइन तोड़ने पर केस दर्ज

आज वो किसान सड़क पर बैठा है. 90 दिनों से किसान अपने हक की लड़ाई लड़ रहा है. 215 किसान शहीद हुए. सरकार ने बिजली काटी, पानी बंद किया, मारपीट कराई उन्हें प्रताड़ित किया. लेकिन उनकी सुनवाई नहीं की गई. किसानों से बात करने के लिए प्रधानमंत्री नहीं आए. रामधारी सिंह दिनकर की कविता पढ़कर उन्होंने कहा कि जब नाश मनुष्य पर छाता है पहले विवेक मर जाता है. इस सरकार का विवेक मर चुका है. प्रियंका गांधी ने कहा कि पीएम अहंकारी हैं उनका अहंकार भगवान श्रीकृष्ण तोड़ेंगे. पीएम पर तंज कसते हुए कहा कि उन्होंने दो हवाई जहाज करीब 16,000 करोड़ खर्च करके खरीद लिए, लेकिन गन्ना किसानों का 15,000 करोड़ बकाया नहीं दिया.

  उपभोक्ता हितों की रक्षा के लिए क्षति कानूनों को सुदृढ़ करें: नायडू

प्रियंका गांधी ने कहा कि भाजपा सरकार ने बेचने की ऐसी भांग डाली है. गोवर्धन पर्वत को संभाल कर रखिए कल की कुछ नहीं पता इसे भी बेचने की कोशिश न करें. केंद्र ने खरबपति मित्रों को लाखों-करोड़ कर्जा माफ किया है. किसानों का एक भी कर्जा माफ नहीं किया. फसल बीमा के नाम पर किसानों से खरबपति मित्रों ने 26 हजार करोड़ रुपये कमाएं हैं. कहा कि किसान का अपमान किया जा रहा है. किसानों को पीएम मोदी ने आंदोलनजीवी कहा, आतंकवादी बोला, संसद में 215 शहीद किसानों के लिए जब राहुल ने दो मिनट का मौन मांगा तो इनके सांसद (Member of parliament) दो मिनट के मौन के लिए खड़े नहीं हुए. जनता जनार्दन है, जनता अहंकारी सरकार को हमेशा सबक सिखाती है. आज वो समय आ गया है.

चुनाव के समय किए वादे झूठ निकले. जब पीएम के निर्णयों पर सवाल उठते हैं तो पिछली सरकारों को दोषी ठहराते हैं. जनता की बात को स्वीकार नहीं करते. इनमें अहंकार है. पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ने पर कांग्रेस को दोषी ठहराया. शुक्र करिए कि पिछली सरकारों ने कुछ बढ़ाया आपने तो कुछ बढ़ाया नहीं. शुक्र करिए कि पिछली सरकार ने कुछ बनाया, यदि बनाते नहीं तो आप बेचते क्या. भाजपा सरकार ने बड़े-बड़े उद्योग बेच डाले. शायद मोदीजी की सबसे बड़ी उपलब्धि यही है कि उन्होंनेे अपने खरबपति मित्रों को खूब बढ़ाया.

  प्रधानमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करेंगे समुद्री इंडिया समिट का उद्घाटन

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि जब तक किसान लड़ते रहेंगे तब तक कांग्रेस पार्टी हर दुख में हर दर्द में शामिल होगी. जैसे ही कांग्रेस की सरकार आएगी इन कानूनों को सबसे पहले रद्द किया जाएगा. इस सरकार को भी भगवान श्रीकृष्ण की वाणी सुनाई देगी. जो जनता कहती है वो सही है. इस सरकार के अहंकार को खत्म करने के लिए जो करना पड़ेगा करेंगे. महापंचायत में अपने भाषण को खत्म करने के बाद प्रियंका गांधी ने कहा कि जो किसान भाई इस आंदोलन में शहीद हुए हैं, उनके लिए दो मिनट का मौन रखें. प्रियंका गांधी वाड्रा ने जय जवान जय किसान के साथ अपना भाषण किया.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *