पुलवामा हमला करने वालों से हिसाब चुकता

श्रीनगर . पुलवामा हमले का एक साल होने पर पूरा देश शहीदों को याद कर रहा है. सीआरपीएफ के 40 जवान पिछले साल 14 फरवरी को ही दिल दहला देने वाले फिदायीन हमले में शहीद हुए थे. इस मौके पर सीआरपीएफ के स्पेशल डीजी (जम्मू-कश्मीर जोन) जुल्फिकार हसन ने कहा कि पुलवामा हमले को जिन लोगों ने अंजाम दिया उनका हिसाब हो चुका है.

pulwama-attack

चित्र @sudarsansand के twitter हैंडल से साभार

स्पेशल डीजी जुल्फिकार हसन ने कहा, ‘हमले की जांच एनआईए द्वारा की जा रही है. जांच सही दिशा में चल रही है. जहां तक मुझे जानकारी है, जांच में काफी प्रगति हुई है. हमने शहीदों के परिवार का ध्यान रखने में कोई कसर नहीं छोड़ी.’

  मप्र में जरूरत हुई तो जारी रहेगा लॉकडाउन

पुलवामा हमले की पहली बरसी के मौके पर श्रीनगर के लेथपोरा में एक मेमोरियल का उद्घाटन किया गया है. मेमोरियल में सभी 40 शहीदों के नाम अंकित हैं. सीआरपीएफ के आला अधिकारियों ने यहां पहुंचकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी.

14 फरवरी 2019 को शाम करीब 3 बजे टीवी चैनलों पर एक ऐसी खबर आई जिससे पूरा देश हिल गया. खबर जम्मू-कश्मीर से थी. पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकी ने सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ) के जवानों को ले जा रही एक बस से विस्फोटक भरी कार को भिड़ा दिया. इस फिदायीन हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे. इसके कुछ ही दिनों बाद भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट स्थित आतंकी कैंपों के ऊपर एयर स्ट्राइक कर जवानों की शहादत का बदला लिया था.

  जापान में बढ़े कोरोना के मामले, पीएम कर सकते हैं, 6 महीने के लिए इमरजेंसी की घोषणा

Check Also

पलायन करने वाले मजदूरों के स्वास्थ्य और प्रबंधन के हम एक्सपर्ट नहीं: सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली (New Delhi) . सुप्रीम कोर्ट (Supreme court) ने मंगलवार (Tuesday) को कहा कि …