राजस्‍थान के चिकित्सा मंत्री बोले रोज करेंगे 1 लाख वैक्सीनेशन


जयपुर (jaipur) . चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने अपने सरकारी आवास पर मीडिया (Media) को कोरोना से बचाव सम्बंधी जानकारी देते हुए कहा कि विभाग अलर्ट मोड पर है जिस प्रकार पिछले साल कोरोना के इंतजामों में मुख्यमंत्री (Chief Minister) की सामाजिक सरोकारो को प्रमुखता में लेते हुए राजस्थान (Rajasthan)फस्र्ट श्रेणी में आया था ठीक उसी तरह इस बार भी इंतजाम किए गए है जिसके तहत कोरोना गाइडलाइन जारी की गई है उस गाइडलाइन के साथ चिकित्सा महकमा अब राज्य में प्रतिदिन एक लाख वैक्सीनेशन लगाने का लक्ष्य रखा है इसमें केन्द्र की सहायता की जरूरत है.

डॉ. शर्मा ने कहा कि पूर्व में भी राजस्थान (Rajasthan)ने कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने में सफलता पाई थी और अब भी सरकार और विभाग पूर्ण रूप से सतर्क और सजग है. प्रदेश के मुख्यमंत्री (Chief Minister) नियमित तौर पर कोरोना समीक्षा बैठक कर रहे हैं और समय-समय पर कोरोना से सबंधित गाइडलाइन भी जारी की जा रही है. उन्होंने कहा कोरोना से बचाव के लिए आमजन का सहयोग अनिवार्य है आमजन कोविड सबंधी सभी निर्देशों का कड़ाई से पालन कर कोविड को हराने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं. चिकित्सा मंत्री ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए सरकार ने व्यापक स्तर पर तैयारियां प्रारंभ कर दी है. जहां सभी निजी चिकित्सालयों में सामान्य और आईसीयू के 10 प्रतिशत बैड आरक्षित रखने के निर्देश दिए गए हैं. वहीं, डेडिकेटेड कोविड सेन्टर की संख्या में भी बढ़ोतरी की भी तैयारियां की जा रही है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार (State government) का पूरा ध्यान अधिक से अधिक वैक्सीनेशन करने पर है इसके लिए विभाग के पास वर्तमान में 25 लाख डोज उपलब्ध हैं.

  कोरोना की मार, श्रम मंत्रालय टाल सकता है लेबर सर्वे

उन्होंने कहा हम प्रतिदिन सात लाख लोगों को वैक्सीनेशन कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि चिकित्साकार्मिकों द्वारा अब तक 70 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है. डॉ. शर्मा ने एक सवाल के जवाब में कहा कि प्रदेश में जिस तेजी से कोरोना संक्रमण का प्रसार हो रहा है. प्रदेश की केन्द्र सरकार से मांग है कि वे कोरोना वैक्सीनेशन के लिए आयुसीमा को हटाएं, जिससे कि कम समय में अधिक लोगों का टीकाकरण कर संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके. उन्होंने कहा के कोरोना के नए वैरिएंट की जांच के लिए सभी सैम्पल दिल्ली भेजे जा रहे हैं. अब तक प्रदेश में नए वैरिएंट से सबंधित किसी भी मामले की सूचना दिल्ली से प्राप्त नहीं हुई है उन्होंने कि प्रदेश में नए कोरोना वैरिएंट की जांच की सुविधा के लिए सरकार प्रयास कर रही है.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *