Tuesday , 24 November 2020

बिकरू कांड में 8 पुलिसकर्मियों पर कड़ी कार्रवाई की सिफारिश


लखनऊ (Lucknow) . कानपुर (Kanpur) के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में 2 जुलाई को गैंगस्टर विकास दुबे के साथ मुठभेड़ मामले की विशेष जांच दल (एसआईटी) जांच पूरी हो गई है. जांच रिपोर्ट में 8 पुलिस (Police)कर्मियों के खिलाफ सख्त एक्शन लिए जाने की सिफारिश की गई है. पूरे मामले में कुल 37 पुलिस (Police)कर्मियों को दोषी माना गया है. बता दें कि विकास दुबे की तलाश में गए पुलिस (Police)कर्मियों पर गैंगस्टर के साथियों ने हमला कर दिया था. इस हमले में 8 पुलिस (Police)कर्मियों की हत्या (Murder) हो गई थी.

  तेज दिमाग के लिए बच्चों को एनर्जी ड्रिंक

प्रदेश सरकार ने 11 जुलाई को अतिरिक्त मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी के नेतृत्व में तीन सदस्यीय एसआईटी का गठन किया था. इसमें अतिरिक्त महानिदेशक हरि राम शर्मा और डीआईजी रविंदर गौड़ भी शामिल थे. एसआईटी ने अपनी जांच रिपोर्ट गृह विभाग को सौंप दी है. गृह विभाग के सचिव तरुण गाबा ने बताया कि एसआईटी ने बिकरु कांड में दोषी पाए गए पुलिस (Police) अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ जांच का दायरा तय किया है.

  भाजपा सरकार बनाने नहीं बल्कि गरीबों और किसानों के कल्याण हेतु सत्ता में आती है : नड्डा

मामले में लिप्त 8 पुलिस (Police)कर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की सिफारिश की गई है. इसके तहत चौबेपुर के तत्कालीन थानाध्यक्ष विनय तिवारी, केस के विवेचक अजहर इशरत, दारोगा कृष्ण कुमार शर्मा, कुंवर पाल सिंह, विश्वनाथ मिश्रा व अवनीश कुमार सिंह के साथ आरक्षी अभिषेक कुमार तथा रिक्रूट आरक्षी राजीव कुमार के खिलाफ सख्त कार्रवाई की सिफारिश की गई है. इसके अलावा अन्य पुलिस (Police)कर्मियों और अधिकारियोंं के खिलाफ अलग-अलग कार्रवाई करने का भी दायरा तय किया गया है.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *