मोइन को घर भेजना जरूरी था : रूट

चेन्नई (Chennai) . इंग्लैंड क्रिकेट टीम के कप्तान जो रूट ने रोटेशन प्रणाली का बचाव करते हुए कहा है कि दूसरे टेस्ट में आठ विकेट लेने वाले ऑफ स्पिनर मोईन अली को स्वदेश भेजना जरुरी है. इसी लिए उन्हें अंतिम दो टेस्ट मैचों के लिए टीम में शामिल नहीं किया गया है. रूट ने कहा, ‘ यह कठिन और चुनौतीपूर्ण है लेकिन अभी के समय में सब कुछ ऐसा ही है. कोविड-19 (Covid-19) महामारी (Epidemic) के दौर में हम जितना क्रिकेट खेल रहे है उसमें हमें सभी चीजों का प्रबंधन करना है.’
आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में जगह पक्की करने के लिए इंग्लैंड को अब सीरीज के बाकी दोनों मैचों को जीतना होगा.

  मोटेरा की पिच को लेकर बीसीसीआई पर भड़के वान

उन्होंने दिन-रात्रि के तीसरे मुकाबले के लिए कहा, ‘ हम पूरे दल को देखकर यह तय करने की कोशिश करेंगे कि अंतिम 11 खिलाड़ियों से खुश रहे और वे गुलाबी गेंद से दूधिया रोशनी में अच्छा कर सकें. वह ऐसी टीम होगी जो हालातों का फायदा उठा सके.’ उन्होंने कहा, ‘हां मोईन घर वापस जाना चाहते थे. उनके लिये यह काफी मुश्किल समय था. साथ ही कहा कि अगर खिलाड़ी जैव-सुरक्षित माहौल से बाहर जाना चाहते है तो उनके पास एक विकल्प है. उम्मीद है वह अच्छा महसूस करेंगे.’ मोईन कोरोना महामारी (Epidemic) से संक्रमित होने के कारण श्रीलंका दौरे पर मैदान पर नहीं उतर सके थे.’

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *