कोविड-19 के खिलाफ जंग में राज्‍य सरकार को समर्थन देने के लिए सैमसंग इंडिया ने उत्‍तर प्रदेश को दिया 2 करोड़ रुपए का योगदान

सैमसंग इंडिया ने कोविड-19 (Kovid-19) महामारी (Epidemic) के खिलाफ जंग में राज्‍य को सहयोग करने के लिए उत्‍तर प्रदेश राज्‍य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को 2 करोड़ रुपए का योगदान दिया है.

 

इसके अलावा, सैमसंग गौतम बुद्ध नगर के अस्‍पतालों में महामारी (Epidemic) को फैलने से रोकने के लिए आवश्‍यक चिकित्‍सा उपकरणों को उपलब्‍ध कराने के जरिये स्‍थानीय प्रशासन और समुदायों की मदद भी कर रही है. सैमसंग ने अस्‍पतालों को 10,000 सुरक्षा मास्‍क और 6,000 पर्सनल प्रिवेंटिव इक्विपमेंट (पीपीई) किट उपलब्‍ध कराए हैं. पीपीई किट एक आवश्‍यक सुरक्षा चिकित्‍सा उपकरण है और प्रत्‍येक किट में सर्जन गाउन, फेस मास्‍क, दस्‍ताने, प्रिवेंटिव आई वियर, हुड कैप और शू कवर होता है. कंपनी ने बड़ी संख्‍या में इंफ्रा-रेड थर्मोमीटर और पब्लिक एड्रेस सिस्‍टम के साथ ही साथ चिकित्‍सा केंद्रों में वायु गुणवत्‍ता को बेहतर बनाने के लिए 300 एयर प्‍यूरीफायर्स भी उपलब्‍ध करवाए हैं.

 

सैमसंग स्‍थानीय समुदायों को फूड पैकेट उपलब्‍ध कराने में स्‍थानीय प्रशासन और पुलिस (Police) का भी सहयोग कर रही है.

  चीनी हवाला नेटवर्क पर IT विभाग के छापे

 

उ.प्र. सरकार (Government) द्वारा इस फंड का उपयोग राज्‍य में महामारी (Epidemic) से लड़ाई में कोविड-19 (Kovid-19) संबंधी राहत, रोकथाम और सुरक्षा जैसे कार्यों में किया जाएगा.

 

सैमसंग ने महामारी (Epidemic) के खिलाफ लड़ाई में केंद्र सरकार (Government) के साथ ही साथ राज्‍य सरकारों का समर्थन करने के लिए 20 करोड़ रुपए का योगदान दिया है. इसने हाल ही में 15 करोड़ रुपए का योगदान पीएम केयर्स फंड में किया है. पूरे भारत से सैमसंग के कर्मचारियों ने भी स्‍वैच्‍छा से पीएम केयर्स फंड में योगदान के लिए अपने वेतन से 1 करोड़ रुपए की राशि जुटाई है.

 

 

श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, निवेश, निर्यात और एमएसएमई मंत्री, उत्‍तर प्रदेश सरकार ने कहा, कोविड-19 (Kovid-19) संकट के दौरान उप्र राज्‍य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को 2 करोड़ रुपए का योगदान देने के लिए उत्‍तर प्रदेश सरकार (Government) सैमसंग की आभारी है. सैमसंग हमारा एक मूल्‍यवान भागीदार है और हम साथ मिलकर उत्‍तर प्रदेश को एक विश्‍व स्‍तरीय वैश्विक इलेक्‍ट्रॉनिक हब बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं.

 

  राम मंदिर निर्माण के लिए दान और चंदे ने पकड़ी तेज रफ्तार

 

पीटर री, कॉरपोरेट वाइस प्रेसिडेंट, सैमसंग इंडिया, ने कहा, संकट के दौरान, जैसे कि हम अभी कोविड-19 (Kovid-19) का सामना कर रहे हैं, कॉरपोरेट्स, सरकारों और समुदायों की मदद में एक महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. सैमसंग कैसे सही मायनों में अपना योगदान दे सकती है इसे समझने के लिए एक इन-डेप्‍थ आवश्‍यकता आकलन करने के लिए हम उत्‍तर प्रदेश में स्‍थानीय प्रशासन के साथ मिलकर काम कर रहे हैं. हम नोएडा (Noida) में अपनी विनिर्माण इकाई के आसपास के स्‍थानीय समुदायों को / की भी मदद कर रहे हैं. उत्‍तर प्रदेश राज्‍य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को दिया गया हमारा योगदान हमारी उसी प्रतिबद्धता का एक हिस्‍सा है.

 

भारत का सबसे भरोसेमंद ब्रांड और देश की सबसे बड़ी उपभोक्‍ता इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स एवं स्‍मार्टफोन निर्माता, सैमसंग कई सालों से उत्‍तर प्रदेश की एक मजबूत भागीदार रही है. इसने देश में अपना पहला विनिर्माण संयंत्र 1996 में नोएडा (Noida), उत्‍तर प्रदेश में स्‍थापित किया था. पिछले 24 सालों में इस संयंत्र का खूब विकास हुआ है और 2018 में यह दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल फैक्‍ट्री के रूप में परिवर्तित हो गया है.

  प्रियंका-राहुल एक्टिव पायलट नरम

 

सैमसंग इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स कंपनी लिमिटेड के बारे में

सैमसंग अपने बदलावपूर्ण आइडिया और तकनीक के साथ दुनिया को प्रभावित और भविष्य का आकार प्रदान करता है. कंपनी ने टीवी, स्मार्टफोन, वियरेबल डिवाइसेस, टैबलेट, डिजिटल उपकरण, नेटवर्क सिस्टम और मेमोरी, सिस्टम एलएसआई, फाउंड्री और एलईडी सॉल्यूशन्स की दुनिया को नए सिरे से परिभाषित किया है. सैमसंग इंडिया से जुड़ी ताज़ा खबरों के लिए, सैमसंग इंडिया न्यूजरूम http://news.samsung.com/in पर जाएं. हिंदी के लिए सैमसंग न्यूजरूम भारत https://news.samsung.com/bharat पर लॉग ऑन करें. आप हमें ट्विटर @SamsungNewsIN पर भी फॉलो कर सकते हैं.

 

Check Also

अक्षय कुमार फोर्ब्स टॉप 10 लिस्‍ट में शामिल

न्यू यॉर्क . फोर्ब्स ने टॉप 10 हाईएस्ट पेड एक्टर्स 2020 की लिस्ट जारी कर …