सैमसंग ने जवाहर नवोदय छात्रों के लिए स्‍टार स्‍कॉलर प्रोग्राम के 5वें संस्‍करण के तहत पेश की IITs, NITs के लिए 150 नई स्‍कॉलरशिप

भारत के सबसे बड़े और सबसे भरोसेमंद उपभोक्‍ता इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स ब्रांड सैमसंग ने आज अपने स्‍टार स्‍कॉलर प्रोग्राम के तहत, शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान (IIT) या राष्‍ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान (NIT) में फुल टर्म कोर्स की पढ़ाई शुरू करने वाले जवाहर नवोदय विद्यालय के छात्रों के लिए 150 नई स्‍कॉलरशिप की घोषणा की है.

 

हर साल सैमसंग जवाहर नवोदय विद्यालय के उन मेधावी छात्रों को स्‍कॉलरशिप की पेशकश करती है, जो इन प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग कॉलेज में फुल टर्म कोर्स को पूरा करते हैं. शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए आवेदन करने की अवधि 25 जनवरी, 2021 तक है.

 

स्‍टार स्‍कॉलर प्रोग्राम के तहत स्‍कॉलरशिप पाने वाले छात्रों को अगले पांच वर्षों तक प्रति वर्ष 2 लाख रुपये की वित्‍तीय मदद प्रदान की जाती है, जो ट्यूशन, एग्‍जामिनेशन, हॉस्‍टल और मेस खर्च सहित उनके शैक्षणिक खर्च के एक बड़े हिस्‍से को कवर करती है. स्‍टार स्‍कॉलर प्रोग्राम के तहत, प्रथम वर्ष के 150 छात्रों का चयन बी.ई/बी.टेक/डुअल डिग्री (बी.टेक + एम.टेक) के लिए संयुक्‍त प्रवेश परीक्षा में उनकी रैंकिंग के आधार पर किया जाता है.

  राजस्‍थान के चिकित्सा मंत्री ने कैंसर डिटेक्शन वैन का किया शुभारंभ

 

पीटर ही, कॉरपोरेट वाइस प्रेसिडेंट, सैमसंग इंडिया ने कहा, सैमसंग में, हम युवा प्रतिभाओं को प्रोत्‍साहित करने में भरोसा रखते हैं और स्‍टार स्‍कॉलर प्रोग्राम कंपनी के योग्‍य युवा कौशल को गुणवत्‍तापूर्ण शिक्षा उपलब्‍ध कराने और देश की अगली पीढ़ी के बीच नवाचार की संस्‍कृति को बढ़ावा देने के लिए किए जा रहे प्रयासों का ही एक हिस्‍सा है. हम स्‍टार स्‍कॉलर प्रोग्राम के पांचवें वर्ष में प्रवेश कर चुके हैं, इसलिए हम राष्‍ट्र निर्माण की क्षमता रखने वाले युवा और प्रतिभावान कौशल को प्रोत्‍साहित करने के लिए स्‍कॉलरशिप का विस्‍तार कर रहे हैं.

 

2016 में शुरू हुआ, स्‍टार स्‍कॉलर प्रोग्राम वर्तमान में अपने पांचवें वर्ष में है और इस प्रोग्राम के लिए चयनित छात्रों को बाद के चार वर्षों तक स्‍कॉलरशिप नवीकरण के माध्‍यम से मदद की जाती है, अगर वे हर साल योग्‍यता मानदंडों को पूरा करते हैं. सैमसंग इंडिया 2013 से नवोदय विद्यालय समिति के साथ भागीदार बनी हुई है और पूरे देश में 583 जवाहर नवोदय विद्यालय स्‍कूलों में स्‍मार्ट क्‍लासेस का संचालन कर रही है.

  फोर्ड ने 32 का माइलेज बता बेची कार, माइलेज निकला 19 का, कंपनी पर लगा 1 लाख रुपए का जुर्माना

 

वर्तमान में, 583 जवाहर नवोदय विद्यालय स्‍कूलों में स्‍मार्ट क्‍लास प्रोग्राम संचालित है. अब तक, 4.37 लाख छात्र (student) इससे लाभान्वित हो चुके हैं और 8.1 हजार शिक्षकों को पढ़ाने में इंटेरैक्टिव टेक्‍नोलॉजी के उपयोग का प्रशिक्षण दिया जा चुका है. प्रत्‍येक सैमसंग स्‍मार्ट क्‍लास एक इंटेरैक्टिव सैमसंग स्‍मार्टबोर्ड, सैमसंग टैबलेट्स, प्रिंटर, वाई-फाई कनेक्टिविटी और पावर बैकअप से सुसज्जित है.

 

स्‍टार स्‍कॉलर प्रोग्राम के दौरान, पहले वर्ष के आवेदकों का चयन जेईई मेन में उनकी ऑल इंडिया रैंक (एआईआर) के आधार पर किया जाता है. हालांकि, दूसरे से चौथे/पांचवें वर्ष के लिए स्‍कॉलरशिप को दोबारा हासिल करने के लिए, आवेदक को सेमेस्‍टर ग्रेड प्‍वॉइंट एवरेज (एसजीपीए) या कम्‍यूलेटिव ग्रेड प्‍वॉइंट एवरेज (सीपीजीए) रेटिंग को 5 या इससे अधिक बनाए रखना आवश्‍यक होता है.

  राजस्‍थान में 4 अपर जिला न्यायालय सृजित एवं स्थापित

 

‘स्‍टार स्‍कॉलर’ प्रोग्राम कंपनी के योग्‍य युवा कौशल को गुणवत्‍तापूर्ण शिक्षा के साथ प्रोत्‍साहित करने के प्रयासों का ही एक हिस्‍सा है.

 

छात्र (student) स्‍टार स्‍कॉलर प्रोग्राम के बारे में और अधिक जानकारी और पंजीकरण के लिए आवेदन फॉर्म डाउनलोड करने के लिए सैमसंग की वेबसाइट http://www.samsung.com/in/microsite/sapne-hue-bade/star-scholar पर विजिट कर सकते हैं. स्‍टार स्‍कॉलर प्रोग्राम के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 25 जनवरी, 2021 तक है.

 

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *