SBI ने JBIC से एक अरब डॉलर का ऋण लिया, भारत में जापानी ऑटो कंपनियों की मदद करने का लक्ष्य


मुंबई (Mumbai) . देश के सबसे बड़े बैंक (Bank) एसबीआई ने बुधवार (Wednesday) को कहा कि उसने भारत में कोरोना (Corona virus) महामारी (Epidemic) के चलते पीड़ित जापानी ऑटो विनिर्माताओं की मदद के लिए जापान बैंक (Bank) फॉर इंटरनेशनल कोऑपरेशन (जेबीआईसी) से एक अरब अमेरिकी डॉलर (Dollar) (करीब 7,350 करोड़ रुपये) का अतिरिक्त ऋण जुटाया है.

भारतीय स्टेट बैंक (Bank) (एसबीआई) ने एक बयान में कहा कि उसने एक अरब अमरीकी डॉलर (Dollar) का ऋण जुटाने के लिए अक्टूबर 2020 में एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे और ताजा उधारी के साथ जेबीआईसी से ली गई कुल ऋण राशि दो अरब डॉलर (Dollar) हो गई है. बयान में कहा गया कि इस ऋण भारत में जापानी ऑटो विनिर्माताओं, आपूर्तिकर्ताओं और डीलरों को सहायता दी जाएगी, जिनकी व्यावसायिक गतिविधियां कोविड-19 (Covid-19) के कारण बुरी तरह प्रभावित हुई हैं.

  इन्दौर में 12787 नागरिकों को लगाये गये कोविड के टीके

बयान में कहा गया है कि इससे भारत में जापानी ऑटोमोबाइल विनिर्माताओं के कारोबार की पूरी श्रृंखला के लिए वित्त उपलब्ध हो सकेगा. जेबीआईसी एक नीति-आधारित वित्तीय संस्थान है, जो पूरी तरह से जापान सरकार के स्वामित्व में है और जिसका उद्देश्य जापान, अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था और समाज के विकास में योगदान करना है.

  भारत में पहली बार एक दिन में दो लाख से अधिक मामले

एसबीआई के अध्यक्ष दिनेश खारा ने कहा, ऐसे समय में, जब लोग आने-जाने के लिए निजी वाहन को प्राथमिकता दे रहे हैं, एसबीआई और जेबीआईसी के बीच यह सहयोग जापानी ऑटोमोबाइल उद्योग की पूरी आपूर्ति श्रृंखला को ऋण सुविधा प्रदान करने में मदद करेगा, जिसमें विनिर्माता, आपूर्तिकर्ता और डीलर शामिल हैं. भारतीय ऑटो क्षेत्र में जापानी कंपनियों का दबदबा है, जिनमें मारुति सुजुकी, टोयोटा किर्लोस्कर और होंडा शामिल हैं.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *