Saturday , 27 February 2021

बिना स्टिकर के बैट से खेलने आए शुभमन गिल, सामने आई वजह

ब्रिसबेन ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच बॉर्डर गावस्कर सीरीज का आखिरी मैच ब्रिसबेन के गाबा मैच में खेला जा रहा है. भारत ने ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी को 369 पर ऑलआउट कर दिया. इसके बाद बल्लेबाजी करने के लिए सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और शुभमन गिल आए. लेकिन जब गिल बल्लेबाजी के लिए आए तो उनके बल्ले पर कोई स्टिकर नहीं लगा हुआ था. इसे देखकर फैंस ने काफी हैरानी जताई.

  अनुभवी खिलाडिय़ों से सहायता मिली : ज्योति

शुभमन गिल जब आखिरी मैच में बल्लेबाजी करने आए तो सभी का फैंस का उनके बल्ले पर गया. इस मैच में शुभमन गिल के बल्ले का स्टिकर उतरा हुआ था. फैंस ने सोशल मीडिया (Media) पर शुभमन गिल के बैट पर स्टिकर ना होने पर अलग-अलग प्रतिक्रियाएं दी. लेकिन शुभमन गिल के बल्ले पर स्टिकर ना होने की वजह कुछ और ही थी. दरअसल तीसरे टेस्ट मैच में शुभमन गिल ने बल्लेबाजी करते हुए समय उनके बल्ले से स्टिकर उतर गया. लेकिन उन्होंने इसके साथ ही बल्लेबाजी की. चौथे टेस्ट मैच में यही कारण है कि वह बिना स्टिकर के बल्लेबाजी करने उतरे.

  100वां खेलने वाले दूसरे भारतीय तेज गेंदबाज बने इशांत

शुभमन ने इस सीरीज में 161 रन बनाएं हैं. इस दौरान उनकी बल्लेबाजी औसत भी 53.67 की रही है. गिल ने जिस तरह से तीसरे टेस्ट मैच में बल्लेबाजी की थी उनकी बल्लेबाजी ने सभी को प्रभावित किया था. शुभमन गिल भारत के पूर्व खिलाड़ी युवराज सिंह की एनजीओ ‘यू वी कैन’ के स्टिकर के साथ खेलते हैं. युवराज सिंह की यह संस्था कैंसर से पीड़ित लोगों के इलाज में मदद करती है. दोनों ही बल्लेबाज पंजाब (Punjab) के लिए खेलते हैं और युवराज सिंह शुभमन को अपना छोटा भाई मानते हैं.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *