Wednesday , 25 November 2020

प्रयागराज के फूलपुर में शराब पीने से अब तक छह की मौत


प्रयागराज (Prayagraj) . उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में प्रयागराज (Prayagraj)जिले के फूलपुर क्षेत्र में जहरीली शराब पीने से अब तक छह लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 10 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. शुक्रवार (Friday) को फूलपुर के अमिलिया गांव में जहरीली शराब पीने से छह लोगों की मौत हो गई. पहली मौत एक पान विक्रेता की गुरुवार (Thursday) रात हुई जबकि पांच अन्य ने शुक्रवार (Friday) की रात तक राजबहादुर, शंभूनाथ, प्यारेलाल, बसंत लाल, रामजी मौर्य और राजेश गौड़ मौत हो गयी. अन्य 10 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

  बिहार विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए राजद भी उतार सकता है प्रत्याशी

बताया जाता है कि इन लोगों ने गुरूवार को देशी शराब के सरकारी ठेके से शराब खरीदी थी. अधिकारियों ने गांव में घोषणा कराई कि अगर कोई बीमार है तो उसे तत्काल अस्पताल पहुंचाया जाए. आरोपी शराब ठेकेदार की तलाश में छापेमारी कर एक सेल्समैन को रात में पकड़ लिया गया है. ग्रामीणों का कहना है कि गुरुवार (Thursday) शाम को अरवासी गांव के पान विक्रेता रामजी मौर्य और बसंत लाल ने ठेके से शराब लेकर पी थी. शाम को ही दोनों की हालत बिगड़ गई. अस्पताल पहुंचने से पहले ही रामजी मौर्य की मौत हो गई. वहीं शुक्रवार (Friday) सुबह बसंत लाल ने भी दम तोड़ दिया.

  भारतीय-अमेरिकी उद्योगपति ने बाइडन-हैरिस के प्रचार के लिए बॉलीवुड संगीत का किया था इस्तेमाल

इधर अमिलिया गांव के शंभूनाथ, राजबहादुर और प्यारेलाल की हालत बिगड़ने लगी. शाम को राजबहादुर व प्रभुनाथ को उनके परिजन सीएचसी फूलपुर लेकर पहुंचे जहां डॉक्टरों (Doctors) ने मृत घोषित कर दिया. बसंतलाल और प्यारेलाल की शुक्रवार (Friday) शाम घर पर ही मौत हो गई. वहीं रात में इलाहाबाद विश्वविद्यालय के चतुर्थश्रेणी कर्मचारी राजेश गौड़ की मौत हो गई. इसके अलावा 10 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.जिलाधिकारी भानु चंद्र गोस्वामी ने सभी शवों के पोस्टमार्टम का आदेश दिया है. जितने लोगों ने ठेके की शराब का सेवन किया है उनका पता लाया जा रहा है. संबंधित दुकान की शराब को लैब में जांच के लिए भेज दिया गया है. जांच के बाद ही मालूम चलेगा कि शराब जहरीली थी या नकली.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *