MPUAT के डॉ शांति कुमार शर्मा को मृदा संरक्षण सोसाइटी ऑफ इंडिया का स्पेशल पुरस्कार

उदयपुर (Udaipur). डॉ शांति कुमार शर्मा को मृदा संरक्षण सोसाइटी ऑफ इंडिया की तरफ से स्पेशल पुरस्कार प्रदान किया गया डॉ शर्मा को यह पुरस्कार राष्ट्रीय स्तर की इस संस्था द्वारा उनके जैविक कृषि के क्षेत्र में तकनीकी विकास अनुसंधान एवं प्रसार के कार्यों के लिए विशेष रुप से प्रदान किया गया है.

डॉ शर्मा ने जैविक खेती के विभिन्न आयामों में अनुसंधान कर राज्य तथा राष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न फसलों के जैविक पैकेज आफ प्रैक्टिसेज एवं नई तकनीकी किसानों तथा जैविक उत्पादकों के लिए प्रदान की शर्मा ने जैविक खुशी को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न तकनीकों को किसानों के खेतों पर प्रदर्शन किया.

  मुश्ताक अली ट्रॉफी : राजस्थान ने लगाई जीत की हैट्रिक -

शर्मा ने विभिन्न अनुसंधान परियोजनाएं तथा देश के वैज्ञानिकों के जैविक खेती में प्रशिक्षण के लिए विशेष कार्य किया है साथ ही डॉ शर्मा द्वारा किए गए कार्यों से जैविक आदान उत्पादन मृदा तथा जल संरक्षण मिट्टी में कार्बन की बढ़ोतरी मिट्टी में सूक्ष्म जीवाणु की संख्या में बढ़ोतरी तथा किसानों द्वारा स्वयं के खेत पर उपलब्ध संसाधनों द्वारा जैविक विधि से आदान उत्पादन करने के नई तकनीकों पर कार्य किया गया जिससे किसानों को स्वयं के संसाधनों से जैविक खेती को अपनाने में आसानी हुई.

  भारत का पहला स्वदेश में विकसित 9 MM मशीन पिस्तौल

डॉ. शर्मा ने जैविक खेती के अनुसंधान कार्यों से महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय मैं संचालित राष्ट्रीय जैविक खेती नेटवर्क परियोजना को राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम पुरस्कार से नवाजा गया साथ ही जैविक खेती के तहत तैयार जैविक खेती प्रशिक्षण यूनिट पर विजिट से किसानों एवं राज्य के एवं दूसरे राज्यों के किसानों एवं प्रसार कार्यकर्ताओं को वैज्ञानिक विधि से जैविक खेती को आगे बढ़ाने में विशेष सहयोग किया इससे प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण तथा सही वैज्ञानिक ज्ञान के द्वारा जैविक खेती में उत्पादन लाभ कथा क्षमता संवर्धन के कार्यों में राज्य तथा राष्ट्रीय स्तर पर विशेष सहयोग मिला प्रथा राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *