कोरोना से निपटने सोनिया गांधी ने दिए मोदी सरकार को 5 सुझाव, तत्काल अमल करने की अपील की

नई दिल्ली (New Delhi) . भारत में कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं. इसके साथ ही सरकार (Government) की ओर से निपटने के लिए कई कड़े फैसले उठाए जा रहे हैं. बीते दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपक्ष के नेताओं से फोन पर बातकर कोरोना से निपटने के लिए सुझाव मांगे. अब कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिख कुछ सुझाव दिए हैं, जिनपर तुरंत अमल करने की अपील की है. सोनिया ने सांसदों की सैलरी में 30 फीसदी की कटौती करने के फैसले का समर्थन किया. इसके अलावा प्रधानमंत्री के सामने 5 सुझाव रखे हैं, जो इस प्रकार हैं. सरकार (Government) के द्वारा टेलीविजन, प्रिंट और ऑनलाइन मीडिया (Media) को देने वाले सभी विज्ञापनों पर दो साल के लिए रोक लगा देना चाहिए. जिससे 1250 करोड़ प्रति साल की जो बचत होगी उसका इस्तेमाल कोरोना से लड़ने में किया जाना चाहिए.

  श्रमिक एक्सप्रेस में गूंजी किलकारी, लाड़ली लक्ष्मी ने लिया जन्म

सरकार के द्वारा सरकारी बिल्डिंग में कंस्ट्रक्शन के काम के लिए जो 20 हजार करोड़ आवंटित किए गए हैं, उन्हें रोक दे, मुझे विश्वास है कि संसद की मौजूदा बिल्डिंग से काम किया जा सकता है, इस राशि से अस्पताल में सुधार, पीपीई जैसी सुविधा की व्यवस्था की जा सकती है. सांसदों की पेंशन, सैलरी में से जो 30 फीसदी की कटौती की गई है, उसका इस्तेमाल मजदूरों, किसानों, छोटे कारोबारियों को आर्थिक मदद दे है. राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, केंद्रीय मंत्री, मुख्यमंत्री, राज्य के मंत्रियों समेत सभी अधिकारियों की विदेश यात्रा पर रोक लगानी चाहिए. चिट्ठी में लिखा कि प्रधानमंत्री और केंद्रीय मंत्रियों की यात्राएं रुकने से 393 करोड़ बच सकते हैं. प्रधानमंत्री केअर्स में जितनी भी राशि मदद के रूप में आई है, उसे प्रधानमंत्री राहत कोष में ट्रांसफर करना चाहिए. इससे पारदर्शिता आएगी, अभी प्रधानमंत्री राहत कोष में मौजूद 3800 करोड़ की राशि पड़ी है.इसके बाद दोनों फंड की राशि को मिलाकर इस्तेमाल किया जा सकता है.

  लम्बे अरसे बाद घर जाने की खुशी : बिहार के प्रवासी विद्यार्थियों ने जताया मुख्यमंत्री का आभार

Check Also

चीन ने भारत से अपने नागरिकों को वापस बुलाया

नई दिल्‍ली . चीन ने छात्रों, पर्यटकों और उद्योगपतियों सहित सभी नागरिकों को भारत से …