श्रीलंका और बांग्लादेश का मुकाबला आज, दोनों ही टीमें अपने बल्लेबाज और गेंदबाजों के प्रदर्शन से नाखुश

शारजाह . श्रीलंका और बांग्लादेश की टीमें टी20 विश्व कप के सुपर 12 के ग्रुप मैच में रविवार (Sunday) को आमने सामने होंगी,तब दोनों बल्लेबाजी की अपनी कमजोरियों को गेंदबाजी से दूर करने की कोशिश करने वाले है. श्रीलंका और बांग्लादेश दोनों को सुपर 12 में जगह बनाने के लिए पहले दौर के ग्रुप चरण से गुजरना पड़ा. श्रीलंका ग्रुप ए में जहां तीन जीत से शीर्ष पर रहा, वहीं बांग्लादेश ग्रुप बी में स्कॉटलैंड के बाद दूसरे स्थान पर काबिज है. श्रीलंका ने नामीबिया को 7 विकेट से और फिर आयरलैंड को 70 से हराया. अपने आखिरी क्वालीफाईंग मुकाबले में नीदरलैंड को 44 रन पर ढेर कर 8 विकेट से जीत दर्ज की. दूसरी तरफ बांग्लादेश अपने पहले मैच में ही स्कॉटलैंड से छह विकेट से हार गया, लेकिन इसके बाद ओमान को 26 रन और पापुआ न्यू गिनी को 84 रन से हराकर सुपर 12 में जगह बनाई है. लेकिन श्रीलंका और बांग्लादेश दोनों के लिये आगे की राह आसान नहीं होगी. इन दोनों टीमों को ग्रुप एक में इंग्लैंड, आस्ट्रेलिया, मौजूदा चैंपियन वेस्टइंडीज और दक्षिण अफ्रीका की कड़ी चुनौती से पार पाना होगा.

टूर्नामेंट में आगे बढ़ने के लिए दोनों टीमों के लिये अपने शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों का लचर प्रदर्शन चिंता का विषय बना हुआ है. श्रीलंका के बल्लेबाज दिनेश चांदी (Silver) मल को नामीबिया और आयरलैंड के खिलाफ नाकामी के बाद अंतिम एकादश में स्थान गंवाना पड़ा. उनके स्थान पर आए चरित असलंका भी नीदरलैंड के खिलाफ कम स्कोर वाले मैच में केवल छह रन बना सके. कुसाल परेरा ने फॉर्म में वापसी की है, लेकिन सलामी बल्लेबाज पथुम निसांका, अविष्का फर्नांडो, भानुका राजपक्षे और कप्तान दासुन शनाका को अधिक जिम्मेदारी लेनी होगी.वहीं श्रीलंकाई गेंदबाजों ने अब तक अच्छा प्रदर्शन किया है लेकिन तेज गेंदबाजी विभाग में लाहिरू कुमारा, चमिका करुणारत्ने और दुशमंत चमीरा तथा ऑफ स्पिनर महीश थीक्षणा और आलराउंडर वाहिंदु हसरंगा की असली परीक्षा होगी. श्रीलंका की तरह बांग्लादेश के बल्लेबाज भी अब तक कमाल नहीं दिखा सके हैं. स्कॉटलैंड से हार और ओमान के खिलाफ मैच के दौरान बांग्लादेशी बल्लेबाजों में आत्मविश्वास की कमी स्पष्ट दिखी. बांग्लादेश के पास शीर्ष क्रम में मोहम्मद नईम, लिटन दास और अफीफ हुसैन जैसे प्रतिभाशाली बल्लेबाज हैं लेकिन उसका दारोमदार अब भी अनुभवी शाकिब अल हसन, कप्तान महमुदुल्लाह और मुशफिकुर रहीम पर टिका है.
बांग्लादेश की गेंदबाजी की अगुवाई तेज गेंदबाज मुस्ताफिजुर रहमान कर रहे हैं जिसमें उनका साथ देने के लिये तास्किन अहमद, मोहम्मद सैफुद्दीन और शोरिफुल अहमद हैं. लेकिन इसके बाद भी बांग्लादेश अपने स्पिनरों शाकिब और महेदी हसन पर अधिक निर्भर है. बांग्लादेश के लिए टी20 विश्व कप अब तक यादगार नहीं रहा है. वह 2007 में सुपर आठ में पहुंचा था, लेकिन इसके बाद 2009, 2010 और 2012 में एक भी जीत दर्ज नहीं कर सका था. बांग्लादेश ने 2014 में पहले दौर में अपने सभी मैच जीते लेकिन सुपर 10 में वह अपने चारों मैच गंवा बैठा था. इसके बाद 2016 में भी यही कहानी दोहरायी गई. लेकिन इस साल बांग्लादेश का प्रदर्शन अच्छा रहा है. उसने वर्तमान कैलेंडर वर्ष में टी20 अंतरराष्ट्रीय में नौ जीत दर्ज की लेकिन स्कॉटलैंड से हार के कारण उसका मनोबल कमजोर पड़ा है. बांग्लादेश हालांकि जिम्बाब्वे, आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के खिलाफ श्रृंखलाओं में जीत से प्रेरणा लेने की कोशिश करेगा.

टीमें इस प्रकार हैं :
श्रीलंका: दासुन शनाका (कप्तान), कुसाल जनीथ परेरा, दिनेश चांदी (Silver) मल, धनंजया डिसिल्वा, पथुम निसंका, चरिथ असलंका, अविष्का फर्नांडो, भानुका राजपक्षे, चमिका करुणारत्ने, वनिन्दु हसरंगा, दुष्मंथा चमीरा, लाहिरु कुमारा, महीश थीक्षणा, अकिला धनंजय, बिनुरा फर्नांडो.
बांग्लादेश: महमूदुल्लाह (कप्तान), लिटन दास, मोहम्मद नईम, महेदी हसन, शाकिब अल हसन, सौम्य सरकार, मुशफिकुर रहीम, नूरुल हसन, अफीफ हुसैन, नसुम अहमद, तस्कीन अहमद, शमीम हुसैन, मुस्ताफिजुर रहमान, मोहम्मद सैफुद्दीन. मैच भारतीय समयानुसार दोपहर बाद तीन बजकर 30 मिनट पर शुरू होगा.

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *