Wednesday , 14 April 2021

कोटा यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स को अब 60 फीसदी ही पेपर करना होगा हल


कोटा . कोटा विश्वविद्यालय से जुड़े कॉलेजों के स्टूडेंट्स को अब 60% ही पेपर हल करना होगा. ‎विश्व‎विद्यालय प्रशासन ने रोज-रोज छात्र (student) संगठनों के द्वारा किए जा रहे धरना प्रदर्शन आंदोलन को ध्यान में रखते हुए आगामी परीक्षाओं के लिए स्टूडेंट्स को बड़ी राहत दी है. यह जानकारी कोटा विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ आरके उपाध्याय ने गवर्नमेंट साइंस कॉलेज के आंदोलित छात्रों के बीच पहुंचकर उन्हें सार्वजनिक रूप से दी.

इस मौके पर बोम की मेंबर डॉ एकता धारीवाल भी मौजूद रहीं. कुलसचिव डॉ आरके उपाध्याय ने बताया कि चोरी के पेपर में 100 फीसदी में से 60 फीसदी ही सवाल करने होंगे. स्टूडेंट्स के पास सेक्शन में ऑप्शन मिलेगा. परीक्षा पारी में गैप को भी बढ़ाने का आश्वासन उन्होंने दिया. दो लाख से ज्यादा स्टूडेंट को परीक्षा में इस तरह राहत मिलेगी. कुलसचिव ने बताया कि पहले ए सेक्शन में स्टूडेंट को 10 प्रश्न हल करने होते थे. अब केवल 6 ही प्रश्न हल करने होंगे. इस तरह बी सेक्शन में पहले 10 में से पांच प्रश्न हल करने होते थे. अब तीन ही प्रश्न हल करने होंगे. ऐसे ही सी सेक्शन में पहले चार प्रश्नों में से दो प्रश्न करने होते थे.

  राजस्थान के उपचुनावों में वसुंधरा राजे प्रचार से दूर

अब एक ही प्रश्न स्टूडेंट को हल करना होगा. पेपर में स्टूडेंट के लिए ऑप्शन बढ़ा दिए हैं. अब पेपर का समय 2 घंटे का हो गया है. बता दें कि कोटा विश्वविद्यालय में कोर्ट के भार को कम करने और परीक्षा पैटर्न को सरल करने की मांग को लेकर कोटा गवर्नमेंट साइंस कॉलेज के छात्रों ने 2 दिन तक भूख हड़ताल की थी. ऐसे में कोटा विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ आरके उपाध्याय ने विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा परीक्षा और प्रश्न पत्र में दी गई राहत के बारे में जानकारी दी.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *