वार्नर की कप्तानी में बेहतर प्रदर्शन के इरादे से उतरेगी सनराइजर्स

मुम्बई (Mumbai) . इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल (Indian Premier League)) के 14 वें सत्र में सनराइजर्स हैदराबाद टीम भी बेहतर प्रदर्शन के इरादे से उतरेगी. टीम को इसके लिए अपने मध्य क्रम की बल्लेबाजी के साथ ही गेंदबाजी में भी सुधार करना होगा. डेविड वार्नर के नेतृत्व में उतरने वाली सनराइजर्स ने साल 2016 में एक बार आईपीएल (Indian Premier League) खिताब जीता था पर उसके बाद से ही टीम निरंतर अच्छे प्रदर्शन के बाद भी सफलता हासिल नहीं कर पायी है.

टीम का समारात्मक पक्ष यह रहा है कि उसने हमेशा से ही प्ले ऑफ में जगह बनाई है. पिछले साल हुए आईपीएल (Indian Premier League) में टीम को दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ एलिमिनेटर और दूसरे क्वालीफायर में हार झेलनी पड़ी. इस बार टीम ने अपने मुख्य खिलाड़ियों को बरकरार रखा है. इसी कारण वह आईपीएल (Indian Premier League) नीलामी में उसने सिर्फ कुछ बैकअप खिलाड़ियों को ही खरीदा है. वहीं पिछले साल टूर्नामेंट में टीम को अनुभवहीन मध्यक्रम से नुकसान हुआ था क्योंकि टीम प्रियम गर्ग, अभिषेक शर्मा और अब्दुल समद जैसे खिलाड़ियों पर ही निर्भर थी. टीम का संतुलन उसका सबसे मजबूत पक्ष है.

  क्रिस गेल अब संगीत के मैदान में, नया गाना 'जमैका टू इंडिया' रिलीज

टीम के पास शीर्ष क्रम में डेविड वार्नर, जॉनी बेयरस्टॉ, जेसन रॉय, केन विलियमसन, मनीष पांडे और रिद्धिमान साहा जैसे खिलाड़ी हैं जो किसी भी गेंदबाजी आक्रमण को ध्वस्त कर सकते हैं. वार्नर और बेयरस्टॉ की सलामी जोड़ी आईपीएल (Indian Premier League) की सबसे अच्छी जोड़ियों में से एक मानी जाती है. जेसन रॉय भी अंतिम एकादश में जगह बनाने के दावेदार हैं. वहीं जेसन होल्डर अपने ऑलराउंड प्रदर्शन जबकि बल्लेबाज केन विलियमसन अपने अनुभव के कारण प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं. वहीं भुवनेश्वर (Bhubaneswar) कुमार और राशिद गेंदबाजी आक्रमण की कमान संभालेंगे. इसके अलावा स्पिनर मुजीब उर रहमान और युवा यॉर्कर गेंदबाज विशेषज्ञ टी नटराजन के रहने से भी गेंदबाजी की धार तेज होगी. टीम को बल्लेबाजी में फिनिशर की कमी जरुर खलेगी. यूएई में हुए पिछले आईपीएल (Indian Premier League) में टीम का मध्यक्रम भी कमजोर नजर आया और ऐसे में टीम की नजरें विलियमसन पर रहेंगी.

  क्रिस गेल अब संगीत के मैदान में, नया गाना 'जमैका टू इंडिया' रिलीज

विजय शंकर को ऑलराउंडर के रूप में अहम भूमिका निभानी होगी. टीम ने इस साल केदार जाधव को अपने साथ शामिल किया है पर अभ्यास की कमी के कारण यह ऑलराउंडर शायद ही बेहतर प्रदर्शन कर पाये. वहीं साहा को अगर बल्लेबाजी क्रम में ऊपर मौका दिया जाता है तो वह बेहतर प्रभाव छोड़ सकते हैं जबकि मध्यक्रम में जाधव अहम भूमिका निभा सकते हैं. बल्लेबाज मनीष पांडे भी आईपीएल (Indian Premier League) में बेहतर प्रदर्शन करके राष्ट्रीय टीम में वापसी के लिए अपनी दावेदारी पेश करेंगे. बल्लेबाजी में टीम वार्नर, बेयरस्टॉ, मनीष और विलियमसम पर जबकि गेंदबाजी में राशिद और भुवनेश्वर (Bhubaneswar) पर काफी अधिक निर्भर है.

  क्रिस गेल अब संगीत के मैदान में, नया गाना 'जमैका टू इंडिया' रिलीज

टीम इस प्रकार है: डेविड वार्नर (कप्तान), केन विलियमसन, विराट सिंह, मनीष पांडे, प्रियम गर्ग, रिद्धिमान साहा, जॉनी बेयरस्टॉ, जेसन रॉय, श्रीवत्स गोस्वामी, विजय शंकर, मोहम्मद नबी, केदार जाधव, जे सुचित, जेसन होल्डर, अभिषेक शर्मा, अब्दुल समद, भुवनेश्वर (Bhubaneswar) कुमार, राशिद खान, टी नटराजन, संदीप शर्मा, खलील अहमद, सिद्धार्थ कौल, बासिल थम्पी, शाहबाज नदीम और मुजीब उर रहमान.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *