सुप्रीम कोर्ट ने सीएए पर असम-त्रिपुरा के लिए बनाई अलग कैटेगरी, केंद्र से मांगा जवाब

गुवाहाटी . नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है. सुप्रीम कोर्ट ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है. हालांकि, कोर्ट ने असम-त्रिपुरा के मामले में दो हफ्ते के अंदर केंद्र से जवाब तलब किया है. मुख्य न्यायाधीश एसए बोवड़े की अध्यक्षता वाली पीठ ने बुधवार को सुनवाई के दौरान कहा कि हमें असम-त्रिपुरा और बाकी राज्यों के मामले को अलग-अलग देखना होगा.

  सैमसंग बदल रहा है भविष्य का आकार, भारत में गैलेक्सी ज़ैड फ्लिप की प्रि-बुकिंग शुरू

सीजेआई एसए बोवडे ने कहा कि हम इस पूरे मामले में जोन के आधार पर कैटेगरी बनाएंगे, जिसमें असम और त्रिपुरा का मामला अलग होगा, जबकि बाकी राज्यों का मामला अलग जोन में होगा. असम और त्रिपुरा की सिटीजनशिप को लेकर दायर याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से दो हफ्तों के भीतर जवाब मांगा है. अगली सुनवाई चार हफ्तों के बाद यानी पांचवें हफ्ते में होगी. इससे पहले मामले से जुड़े प्रक्रियागत मुद्दों पर पर चेंबर में विचार करेगी.

  ट्रंप पर खर्च को लेकर भाजपा ने प्रियंका पर किया पलटवार

Check Also

गृहमंत्री शाह के साथ बैठक के बाद बोले केजरीवाल, सब मिलकर शांति बहाली करेंगे

नई दिल्ली . उत्तर पूर्वी दिल्ली में जारी हिंसा के बीच अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार …