मार्च में विनिर्माण गतिविधियों में वृद्धि की रफ्तार सुस्त पड़ी: सर्वे


नई ‎दिल्ली . देश की विनिर्माण गतिविधियों में वृद्धि की रफ्तार फिर सुस्त पड़ी है और मार्च में यह सात माह के निचले स्तर पर आ गई है. सोमवार (Monday) को जारी एक मासिक सर्वे में कहा गया है कि कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने से देश में विनिर्माण गतिविधियां प्रभावित हुई हैं.

  गैलेक्सी S21 अल्ट्रा 5G पर मुझे तस्वीरों और 8K वीडियो स्नैप के बीच चुनाव करने की ज़रूरत नहीं थीः नैट जियो फोटोग्राफर प्रसेनजित यादव

आईएचएस मार्किट इंडिया का विनिर्माण खरीद प्रबंधक सूचकांक (पीएमआई) मार्च में घटकर सात माह के निचले स्तर 55.4 पर आ गया. फरवरी में यह सूचकांक 57.5 पर था.पीएमआई का 50 से अधिक का आंकड़ा वृद्धि, जबकि इससे नीचे का आंकड़ा संकुचन को दर्शाता है. सर्वे में शामिल लोगों का कहना है कि कोविड-19 (Covid-19) के मामले बढ़ने से मांग की वृद्धि सुस्त पड़ी है.

  कोरोना अभियान में शामिल कर्मचारी नहीं होंगे रिटायर

कोविड-19 (Covid-19) की वजह से अंकुश बढ़ने और कुछ राज्यों में लॉकडाउन (Lockdown) फिर लगाए जाने की वजह से भारतीय विनिर्माताओं के लिए अप्रैल काफी चुनौतीपूर्ण रहने वाला है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सोमवार (Monday) को जारी आंकड़ों के अनुसार देश में एक दिन में कोरोना (Corona virus) संक्रमण के सबसे अधिक 1,03,558 मामले आए हैं. अब देश में संक्रमित लोगों का आंकड़ा 1,25,89,067 पर पहुंच गया है. रोजगार के मोर्चे पर अच्छी खबर नहीं मिल रही है. मार्च में भी रोजगार में गिरावट आई.

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *