टेस्ट क्रिकेटरों को हर हालात में खेलने तैयार रहना चाहिये : स्टोक्स

अहमदाबाद (Ahmedabad) . इंग्लैंड के ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने कहा है कि टेस्ट क्रिकेटरों को हर प्रकार के हालातों में खेलने का अनुभव होना चाहिये. वहीं हाल के दिनों में इंग्लैड के पूर्व क्रिकेटरों ने चेन्नई (Chennai) की पिच को खराब बताया था. स्टोक्स
के अनुसार दिन-रात्रि के तीसरे टेस्ट के दौरान मोटेरा की पिच कैसा व्यवहार करती है. इसके बारे में उन्हें अंदाजा नहीं है.

स्टोक्स ने कहा, ”एक टेस्ट बल्लेबाज होने का मतलब है कि आपको हर तरह के हालातों का सामना करने में सक्षम होना चाहिए. भारत ऐसा स्थान है जहां विदेशी बल्लेबाजों के लिए सफलता हासिल करना बहुत कठिन होता पर इंग्लैंड में भी ऐसा होता है.” उन्होंने कहा, ”और यह चुनौती खेल का हिस्सा है और इसलिए हम इसे पसंद करते हैं.”
भारत में टर्निंग विकेट वर्तमान सीरीज के दौरान चर्चा का विषय बन गये हैं और माइकल वान जैसे इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ियों ने सवाल उठाए हैं कि क्या इस तरह के विकेट टेस्ट क्रिकेट के लिए आदर्श हैं. उन्होंने कहा, ”मुझे लगता है कि दूधिया रोशनी में खेले जाने वाले अगले मैच में गेंदबाजी करने के लिए मेरे पास कई अन्य कारण हो सकते हैं.”

  मेक्सिको में एकसाथ खेलते नजर आयेंगे बोपन्ना-कुरैशी

भारत और इंग्लैंड के बीच चार मैचों की सीरीज में काफी कुछ दांव पर लगा है. इन दोनों टीमों के पास विश्व टेस्ट चैंपियनिशप (डब्लयूटीसी) का फाइनल के लिए क्वालीफाई करने का मौका है. भारत को इसके लिए जहां एक जीत और एक ड्रा की जरूरत है वहीं इंग्लैंड को दोनों मैच जीतने होंगे. स्टोक्स ने कहा कि किसी को भी इस बारे में थोड़ा भी पता नहीं है कि मोटेरा की पिच का व्यवहार कैसा होगा. उन्होंने कहा, ”आमतौर पर विश्व भर में गुलाबी गेंद से खेले जाने वाले मैचों में बीच में ऐसा दौर आता है जबकि दूधिया रोशनी में गेंद से मदद मिलती है और तब तेज गेंदबाजों की भूमिका अहम होती है.”

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *