अखिल मेवाड़ सालवी समाज ने मृत्युभोज जैसी वीभत्स कुरीति को बंद करने का लिया ऐतिहासिक फैसला


चित्तौडगढ. आम मेवाड़ सालवी समाज बाबा रामदेव मंदिर ट्रस्ट मात्रिकुण्डियां के परिसर में विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) की गाइडलाइन का पालन करते हुए पूर्णिमा के दिन आम मेवाड़ सालवी समाज चार चोखला अध्यक्ष भगवानलाल सालवी रेलमगरा की उपस्थिति में बैठक आयोजित की गई जिसमें विशेष तौर से समाज में व्याप्त मृत्युभोज जैसी कुरीति पर मंथन किया गया. इसके तहत राजसमन्दए भीलवाड़ाए चित्तौड़गढ़ए उदयपुर (Udaipur)ए प्रतापगढ़ के समाजजनों ने सर्वसम्मति से मृत्युभोज को पूर्णरूप से बंद करने का निर्णय लिया गया.

यह घोषणा की गई कि इस दौरान समाज के किसी भी परिवार में मृत्यु भोज का आयोजन नहीं किया जाएगाए चिट्ठी नहीं छपवायेगी और बांटी जाएगीए धूप और पगड़ी दस्तूर की रस्म में निकट संबंधी रिश्तेदारों को ही बुलाया जाएगाए मृत्युभोज के नाम पर किसी भी प्रकार का खर्चीला आयोजनए गंगोजए मौसरए नुक्ता नहीं किया जाएगा और शोक संतप्त परिवार में किसी भी प्रकार की मिठाई न बनाकर सिर्फ रिश्तेदारों के लिए सादा भोजन बनाया जायेगा. यह बचत शिक्षाए छात्रावासए चिकित्सा और समाज के विकास के लिए खर्च की जायेगी.

  कोटा में 24 घंटे में 32 साल की महिला के दोनों लंग्स खराब, डॉक्टर बोले- इतनी तेजी से तो चूहे भी नहीं कुतरते

बैठक में समाज के मदन औजस्वीए श्यामसिंह नेशनल अवार्डीए नानालाल सालवीए भैरुलाल सालवी भूतेलाए सुनिल मेघवंशीए  लेहरुलाल कांगनीए भगवानलाल गंगरारए हंसराज चित्तौड़ए पूरण मेघवंशीए कालूराम आरणी आदि ने विचार व्यक्त करते हुए बताया कि समाज में व्याप्त कुरीतियों और आडम्बरों पर होने वाले खर्च को बच्चोंए परिवार की शिक्षा और स्वास्थ्य पर खर्च करना चाहिए ताकि कोई परिवार कर्ज तले दबकर जेवर और जमीन बेचने पर मजबूर ना हो और संविधान का सम्मान करते हुए मृत्युभोज निवारण अधिनियम 1960 की अनुपालना पर भी जोर दिया गया.

  कक्षा 1 में प्रवेश के लिए बर्थ सर्टिफिकेट और आधार कार्ड जरूरी

मृत्युभोज की रोकथाम और जनजागृति हेतु आम मेवाड़ सालवी समाज युवा महासभा का गठन किया गया जिसमें सर्वसम्मति से देवकिशन बलाई कांगणी को सम्भागीय अध्यक्षए तुलसीराम सालवी गिलुण्ड को महासचिवए मदन सालवी औजस्वी चित्तौडगढ़ तथा  गिरधारीलाल काला  भीलवाड़ा को संरक्षकए मदनलाल को राजसमन्दए जगदीशचंद्र बलाई पुर को भीलवाड़ाए हीरालाल गंगरार को चित्तौड़ का जिलाध्यक्ष बनाया गया.

  16 वर्षीया किशोरी ने दिया बेटे को जन्म, युवक के खिलाफ दुष्कर्म का केस दर्ज

इस दौरान नंदलाल आमलीए रोशनलालए प्रेमचंदए पूरणमल कांगनीए रतनलाल जूणदाए संतोष चित्तौड़गढ़ए छोगालाल लक्ष्मीपुराए रामचंद्र जाशमाए भूपेंद्र  गंगरारए रामलालए नवलराम बोरजए प्रभुलाल मूरड़ाए उदयलाल हमीरगढ़ए नानालाल सालवी दादियाए मदनलाल सालवी भूतेलाए भगवतीलाल मेहरा भीलवाड़ाए मोतीलाल मोरचनाए बद्रीलाल पछमता सहित कई गणमान्य समाजजन मौजूद रहे.’

Rajasthan news