स्पाइसजेट को टिकट सेल रोकने के निर्देश दिए, कंपनी ने ‘एक पर एक टिकट मुफ्त’ सेल घोषणा की थी


नई दिल्ली (New Delhi). निजी एयरलाइंस स्पाइसजेट को सोमवार (Monday) से शुरू हुई उसकी पांच दिन की टिकट सेल रोकने के निर्देश नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने दिए हैं. स्पाइसजेट ने एक प्रेस विज्ञप्ति में पांच दिन की ‘एक पर एक टिकट मुफ्त’ सेल घोषणा की थी. इसके तहत कंपनी ने एकतरफा घरेलू यात्रा के लिए 899 रुपये के न्यूनतम आधार किराये पर टिकट की पेशकश की है. इस टिकट पर कर अलग से देय है. विज्ञप्ति के मुताबिक सेल के दौरान टिकट खरीदने वाले ग्राहकों को अधिकतम 2,000 रुपये मूल्य का एक प्रोत्साहन कूपन मिलेगा.

  उपचुनाव : कांग्रेस ने जारी की दूसरी सूची

इसका उपयोग वे भविष्य की यात्राओं में कर सकेंगे. इसकी वजह देश में घरेलू उड़ानों को 25 मई के बाद फिर से शुरू किए जाने के बाद से सरकार (Government) का हवाई यात्रा किराये पर सीमा तय करना है. डीजीसीए ने सोमवार (Monday) दोपहर को सरकार (Government) के किराये सीमा तय करने के आदेश पर ध्यान दिलाते हुए स्पाइसजेट को उसकी सेल रोकने के निर्देश दिए.

सरकार ने अपने आदेश में सबसे कम दूरी की उड़ानों के लिए न्यूनतम 2,000 रुपये का किराया तय किया है. नागर विमानन मंत्रालय ने देश में 25 मई से हवाई यात्रा को शुरू करने से पहले 21 मई को एयरलाइंस के लिए घरेलू हवाई यात्रा किराये की सीमा तय करने का आदेश जारी किया था. इसके लिए सात श्रेणियां बनायी गई थी. किराया सीमित रखने की समयसीमा पहले 24 अगस्त तक तय की गई थी जिसे बाद में बढ़ाकर 24 नवंबर कर दिया गया. इसके तहत पहली श्रेणी में 40 मिनट या उससे कम समय की उड़ानों को रखा गया.

  महिला से किया सामूहिक दुष्कर्म

इसके लिए न्यूनतम किराया 2,000 रुपये और अधिकतम 6,000 रुपये तय किया गया. इसी तरह 40 से 60 मिनट की उड़ान के लिए 2,500-7,500 रुपये, 60-90 मिनट के लिए 3,000-9,000 रुपये, 90-120 मिनट के लिए 3,500 रुपये-10,000 रुपये, 120-150 मिनट के लिए 4,500-13,000 रुपये, 150-180 मिनट के लिए 5,500-15,700 रुपये और 180-210 मिनट की उड़ान के लिए 6,500 से 18,600 रुपये की सीमा तय की गई. ताजा मामले में स्पाइसजेट के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हम पहले ही डीजीसीए के दिर्शानिर्देशों का पालन कर रहे हैं.’’

  डीजीपी शर्मा कार्यमुक्त, गृह मंत्रालय से अटैच

Check Also

चीफ जस्टिस ने भूमि अधिग्रहण को पैसले पर उठाए सवाल

नई दिल्ली (New Delhi). मुख्य न्यायाधीश (judge) एसए बोबडे ने भूमि अधिग्रहण मामले में आए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *