आयकर रिटर्न भरने की तारीख 30 सितंबर तक बढ़ी, 31 जुलाई थी अंतिम तारीख


नई दिल्ली (New Delhi). सरकार (Government) ने वित्त वर्ष 2018-2019 (आकलन वर्ष 2019-20) के लिए आयकर भरने की तारीख दो महीने बढ़ाकर 30 सितंबर तक कर दी है. आयकर विभाग ने ट्वीट कर बताया, कोविड महामारी (Epidemic) के बीच करदाताओं को सहूलियत देने के मकसद से केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने यह तारीख अब 31 जुलाई से बढ़ाकर 30 सितंबर तक कर दी है. करदाताओं के लिए इस साल तीसरी बार यह तारीख बढ़ाई गई है.

  प्रधानमंत्री 15 अगस्त को आत्मनिर्भर भारत की रूपरेखा करेंगे प्रस्तुत

सरकार ने वित्त वर्ष 2018-19 के लिए आयकर रिटर्न भरने की अंतिम तारीख 31 जुलाई तय की थी, जिसे बढ़ाकर अब 30 सितंबर कर दिया गया है. तारीख बढ़ाने से करदाताओं को अब रिटर्न दाखिल करने के लिए करीब दो माह का अतिरिक्त समय मिल गया है. आयकर विभाग ने इस संबंध में एक ट्वीट के माध्यम से जानकारी दी है. इस फैसले से करदाताओं को काफी बड़ी राहत दी गई है. कारण कि कोरोना महामारी (Epidemic) और लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से लोगों को आईटीआर भरने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा था.

  जेब क़टने के 14 साल बाद वापस मिला पर्स, उसमें था 500 का पुराना नोट

31 जुलाई थी अंतिम तारीख

बता दें कि वित्त वर्ष 2018-19 (आकलन वर्ष 2019- 20) के लिए आयकर रिटर्न दाखिल करने की अंतिम तारीख 31 जुलाई थी. परंतु कोविड-19 (Covid-19) महामारी (Epidemic) और लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से करदाताओं को रिटर्न दाखिल करने में समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था. इसी को ध्यान में रखते हुए अब आईटीआर दाखिल करने के लिए अतिरिक्त समय दिया गया है.

  40 फीसदी कोरोना मरीजों में नहीं दिखाए देते संक्रमण के लक्षण

Check Also

रूस ने आखिर तैयार किया कोरोना वैक्सीन

राष्ट्रपति पुतिन ने बताया उनकी एक बेटी को दिया गया टीका मॉस्को . कोरोना वैक्सीन …