मेवाड़ राज्य की प्रथम प्रेस ‘सज्जन यंत्रालय’


उदयपुर (Udaipur). महाराणा सज्जन सिंह जी की 161वीं जयंती पर आरम्भ की गई विशेष जानकारियों में आज की ऐतिहासिक कड़ी के 5वें दिन महाराणा मेवाड़ चैरिटेबल फाउण्डेशन द्वारा संचालित महाराणा मेवाड़ अनुसंधान केन्द्र, उदयपुर (Udaipur) द्वारा मेवाड़ राज्य की प्रथम प्रेस ‘सज्जन यंत्रालय’ पर संक्षिप्त प्रकाश डाला जा रहा हैं. पाठकों की जानकारी के लिए इसे इटर्नल मेवाड़ की पोस्ट पर भी दिया जा रहा है:-

  पुलिस कर्मियों से कोरोना रोकथाम के लिए सजगता से कार्य करने का आव्हान

महाराणा सज्जन सिंह जी ने सन् 1880 में मेवाड़ राज्य में प्रथम प्रेस की स्थापना करवाई, जिसका नाम ‘सज्जन यन्त्रालय’ रखा गया, इसे ‘सज्जन मुद्रणालय’ भी कहा जाता है. प्रेस को महल के खासा रसोड़ा में स्थापित किया गया था. मेवाड़ राज्य की प्रेस में महर्षि दयानंद सरस्वती जी से प्रेरित राज्य समाचार पत्र ‘सज्जन कीर्ति सुधाकर’ पहली बार प्रकाशित किया गया था. लघु आकार का सज्जन कीर्ति सुधाकर हिन्दी भाषा का साप्ताहिक समाचार पत्र था. इसमें राज्य के कानून, प्रशासन संबंधी और अन्य कई महत्वपूर्ण समाचारों को कवर किया जाता था.

  ह्रदय की जांच मात्र 999 रुपये में

सर्वप्रथम इसे मात्र चार पृष्ठों में प्रकाशित किया गया, जो आगे चलकर 12 पृष्ठों तक प्रकाशित होने लगा था. कार्य की पारदर्शिता के लिए ‘सज्जन कीर्ति सुधाकर’ में राज्य की ओर से निविदाएं भी प्रकाशित की जाती थी. इस समाचार पत्र को मेवाड़ गजट के नाम से भी जाना जाता था. महाराणा सज्जन सिंह जी ने अपने शासनकाल के दौरान अन्य समाचार पत्रों के संपादकों और लेखकों को भी प्रोत्साहित किया और ऐसे कार्यों के लिए कई अनुदान भी प्रदान किये गये थे. शिक्षा को बढ़ावा देते हुए महाराणा ने बच्चों के लिए कई पुस्तकें खरीदी और इस प्रेस से प्रतियां छपवाकर भी वितरित करवाई.

  राजकीय चिकित्सालयों का समय 1 अक्टूबर से 31 मार्च तक परिवर्तित

Check Also

पंचायत चुनाव 2020 : गोगुन्दा में 6 व 7 अक्टूबर तथा सराड़ा में 10 व 11 अक्टूबर को होगा मतदान

उदयपुर (Udaipur). राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जिले में पंचायत चुनाव 2020 के तहत प्रथम चरण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *