पति पर संगीन आरोप लगाने वाली पत्नी द्वारा किये मुकदमो को पुलिस ने झूठा माना

उदयपुर (Udaipur). रुपये के लालच व वैचारिक मतभेदों के चलते अपने ही पति पर बलात्कार का झूठा आरोप लगाने, खाली चेकों पर हस्ताक्षर कर चेक अनादरण के नोटिस भिजवाने व बैंक (Bank) डिटेल में हेराफेरी के तथाकथित आरोपों को पुलिस (Police) ने झूठा मानते हुए न्यायालय में अपना अंतिम प्रतिवेदन (एफ. आर.) प्रस्तुत किया है, पुलिस (Police) ने उक्त न्यायालय से झूठा प्रकरण मैं पुलिस (Police) अनुसंधान कि सही एवं अंतिम रिपोर्ट स्वीकार करने का आग्रह किया है.

दरअसल प्रताप नगर निवासी कृति पैट्रिक पुत्री डेरिक जॉय पैट्रिक ने न्यायिक मजिस्ट्रेट क्रम संख्या 1 शहर दक्षिण में अभियुक्त विरेंद्र सिंह राठौड़ उर्फ फौजी सहित अन्य के खिलाफ इस्तगासा पेश कर बलात्कार का झूठा आरोप लगाया.

  रक्षाबंधन पर राशन किट और वस्त्र भेंट किए

प्रार्थिया कृति ने अपने इस्तगासे में तथ्यों को छिपाते हुए और भी कई आरोप लगाए. इस पर पुलिस (Police) ने निष्पक्ष जांच करते हुए पाया कि 2012 में कृति और वीरेंद्र सिंह की मित्रता हुई, जिसके बाद 2014 में दोनों ने शादी की. शादी के बाद कृति पैट्रिक के नाम पर पेट्रोल (Petrol) पंप एलॉटमेंट हुए, उसमें वीरेंद्र सिंह और उनके साथियों की राशि लगी हुई थी. बाद में आपसी पारिवारिक मनमुटाव होने से और कृति पैट्रिक द्वारा लोगों को राशि के बदले दिए गए चेकों को डरा धमका कर हथियाने के लिए अपने ही पति वीरेंद्र सहित अन्य के खिलाफ आपराधिक मुकदमा दर्ज कराया गया.

  भीलवाडा शहर में 5 अगस्त से रात्रि 8 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यु, रविवार को बाजार बंद रहेंगे

प्रताप नगर पुलिस (Police) ने जांच में यह भी पाया कि वीरेंद्र सिंह व कृति पैट्रिक में आपसी मन मुटाव होने के चलते वीरेंद्र सिंह द्वारा डाइवर्स का नोटिस देने व कृति पैट्रिक द्वारा पम्प संचालन हेतु लिए गए उधार रुपये नही चुकाने की नीयत से कृति पैट्रिक ने यह मुकदमा दर्ज कराया है. इस मामले की जांच करते हुए पूर्व में गंगरार थाना पुलिस (Police) ने भी वीरेंद्र सिंह के पक्ष में एफआर फेस की थी, वहीं अब प्रताप नगर थाना पुलिस (Police) ने भी अनुसंधान पूरा कर इस मामले में एफआर दर्ज करवाई है.

  मेवाड़ी जाबांज ने फहराया था अयोध्या में पहला भगवा

Check Also

मेवाड़ी जाबांज ने फहराया था अयोध्या में पहला भगवा

राम जन्म स्थली अयोध्या में विवादित ढ़ांचे पर पहली बार भगवा ध्वज फहराने वाले साहसी …