कश्मीर को लेकर मोदी सरकार पर उठाए थे सवाल, ब्रिटिश सांसद को बैरंग लौटाया


नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद दुनिया के कई देशों ने सवाल खड़े किए हैं. भारत के बुलावे पर यूरोपियन यूनियन के कुछ सांसदों ने घाटी का दौरा किया. लेकिन सोमवार को ब्रिटेन की लेबर पार्टी की सांसद डेबी अब्राहम को भारत आने से रोकने का फैसला कर दिल्ली एयरपोर्ट से ही वापस भेज दिया गया. इस मामले पर ब्रिटिश सांसद ने मोदी सरकार के फैसले पर सवाल उठाए हैं. डेबी अब्राहम ब्रिटिश सांसद हैं और ऑल पार्टी पार्लियामेंट्री ग्रुप ऑफ कश्मीर की अध्यक्ष है. सोमवार सुबह करीब 8.50 पर जब डेबी अब्राहम दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचीं, तो उन्हें बताया गया कि उनका वीज़ा कैंसिल कर दिया गया है. हालांकि, ये वीजा अक्टूबर 2020 तक मान्य था.

  मायावती ने कहा, जनता के व्यापक हित में अगला फैसला लेने की जरूरत

भारत में एंट्री रद्द होने पर ब्रिटिश सांसद ने कहा, ‘हर किसी की तरह मैंने भी ई-वीज़ा के साथ डॉक्यूमेंट दिखाए, लेकिन एयरपोर्ट अथॉरिटी ने मना कर दिया. मुझे बताया गया कि मेरा वीजा कैंसिल हो गया. इस विवाद पर केंद्रीय गृह मंत्रालय सूत्रों का कहना है कि ब्रिटिश सांसद का ई-वीज़ा पहले ही कैंसिल कर दिया गया था और उन्हें इस बारे में सूचना भी दी गई थी. जब वह इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर आईं तो उनके पास वीज़ा नहीं था. इतना ही नहीं उन्होंने ट्विटर पर भी अपनी शिकायत दर्ज की. अपने ट्वीट में लिखा, ‘मैं अपनी भारतीय रिश्तेदारों से मिलने जा रही थी, मेरे साथ हिंदुस्तानी स्टाफ मेंबर भी थे.

  पुरानी रंजिश को लेकर पिता-पुत्र की हत्या

बता दें कि डेबी अब्राहम की गिनती भारत के द्वारा जम्मू-कश्मीर को लेकर किए गए फैसले की आलोचना करने वालों में होती है. पांच अगस्त के बाद उन्होंने कई ऐसे ट्वीट किए हैं जो मोदी सरकार की कश्मीर नीति पर सवाल उठाते हैं.

Check Also

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण खतरनाक स्तर पर, अब तक 1364 मामले सामने आए

मुंबई (Mumbai) . महाराष्ट्र में कोरोना के अब तक 1364 मामले सामने आए हैं और …