तात्कालिक प्रतिक्रिया के रूप में किए गए ट्वीट्स को लेकर अक्सर होता है पछतावा : ट्रंप


वाशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक साक्षात्कार में स्वीकार किया कि उन्हें अपने कुछ ट्वीट्स को लेकर अक्सर पछतावा होता है. ट्रंप ने कहा यह पुराने दिनों की तरह नहीं है जब लोग एक खत लिखते थे और इसे भेजने से पहले पूरा दिन लिए बैठे रहते थे, तब अपने लिखे पत्र के मजमून पर सोचने का खूब समय होता था.

  लद्दाख में कैसा रहेगा चीन का आक्रामक खेल

ट्रंप ने कहा समय के साथ स्थितियां बदल गई हैं. अब पत्र नहीं लिखे जाते ट्वीट किए जाते हैं. जब कोई विचार मन में आता है तो हम फौरन ट्वीट कर देते हैं. हम मुश्किल में तब महसूस करते हैं, जब इसको लेकर फोन आने लगते हैं-क्या आपने सचमुच यह बात कही? उन्होंने कहा ज्यादातर तो रिट्वीट्स मुश्किल में डाल देते हैं. राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा आप ऐसा कुछ देखते हैं जो अच्छा लगता है और आप उसकी पड़ताल नहीं करते. उल्लेखनीय है कि हाल के महीनों में ट्रंप की ‘व्हाइट पावर’ और यहूदी विरोधी संदेशों वाले पोस्ट रिट्वीट करने के लिए आलोचना की गई. वह इसी पर प्रतिक्रिया कर रहे थे.

  गिलगिट-बाल्टिस्तान को अब अपना पांचवां राज्य बनाने की फिराक में पाकिस्तान : अमजद मिर्जा

Check Also

नौसेना के अनुबंध पूरा नहीं करने पर जताया ऐतराज, जंगी जहाजों के बेड़े को खरीदने में असफल रहने का मामला

नयी दिल्ली. नौसेना द्वारा जंगी जहाजों के बेड़े को खरीदने का फैसला 2010 में होने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *