इस कंपनी ने कोरोनाकाल में तोड़ दिया रिकॉर्ड : 20 लाख गाड़ियों के निर्यात का आंकड़ा किया पार

नई दिल्ली (New Delhi) . भारत की कार बनाने वाली प्रमुख कंपनी मारुति सुजुकी ने 20 लाख गाड़ियों के निर्यात का आंकड़ा पूरा कर लिया है. कंपनी ने एस प्रेसो, ‎स्विफट और ‎विटारा ब्रेजा की एक खेप गुजरात (Gujarat) के मुंद्रा पोर्ट से दक्षिण अफ्रीका के लिए रवाना की. मारुति सुजुकी वित्त वर्ष 1986-87 से वाहनों का निर्यात कर रही है. कंपनी का निर्यात होने वाला सबसे पहला बड़ा कंसाइनमेंट 500 कारों का था, जिसे सितंबर 1987 में हंगरी भेजा गया.

  अंतरराज्‍यीय बस परिवहन सेवा 15 मई तक स्थगित

वित्त वर्ष 2012-13 में मारुति सुजुकी ने 10 लाख गाड़ियों के ‎‎निर्यात का आंकड़ा पार किया. इन 10 लाख गाड़ियों में से 50 फीसदी से अधिक यूरोप के विकसित देशों में ‎निर्यात हुईं. अब कंपनी ने और 10 लाख गाड़ियों का ‎निर्यात केवल 8 सालों में कर लिया है. मारुति सुजुकी का लैटिन अमेरिका, अफ्रीका और एशिया क्षेत्र के उभरते बाजारों पर विशेष फोकस है. कंपनी ने कहा है कि मारुति सुजुकी चिली, इंडोनेशिया, दक्षिण अफ्रीका और श्रीलंका के बाजारों में अच्छी पैठ हासिल करने में कामयाब रही है. इन बाजारों में अल्टो, बेलेनो, ‎डिजायर जैसे मॉडल पॉपुलर चॉइस बनकर उभरे हैं.

  उदयपुर में होगी अब और ज्यादा सख्ती : कलक्टर ने जारी किए विस्तृत निर्देश

इस साल जनवरी से मारुति सुजुकी ने ‎जिमी का भी ‎निर्यात शुरू किया है. ‎जिमी के लिए भारत प्रोडक्शन बेस है. मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड के एमडी व सीईओ केनिची आयुकावा ने इस उपलब्धि पर कहा कि कंपनी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) (Prime Minister Narendra Modi) के मेक इन इंडिया विजन को लेकर प्रतिबद्ध है. 20 लाख गाड़ियों का ‎निर्यात इस बात का सबूत है. अभी हम 100 से ज्यादा देशों में 14 मॉडल्स के लगभग 150 वेरिएंट ‎‎निर्यात करते हैं. कंपनी पिछले 34 सालों से वाहनों का ‎‎निर्यात कर रही है.

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *