Thursday , 28 January 2021

कोचिंग खुलवाने के लिये सड़कों पर उतरे हजारों लोग, पदयात्रा में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि भी रहे शामिल

कोटा . कोचिंग सिटी कोटा में कोरोना (Corona virus) के कारण बीते 9 महीने से कोचिंग संस्थाएं बंद हैं. ऐस में लोगों की आ‎र्थिक ‎स्थि‎ति लगातार ‎बिगड़ती जा रही हैं. अब उन्हें ‎‎निजात ‎दिलाने के ‎लिये विभिन्न संगठन सड़कों पर उतरे. इन संगठनों ने कोचिंग संस्थानों को जल्द खोलने की मांग को लेकर विशाल पद यात्रा निकाली. “कोटा बचाओ संघर्ष समिति” ने अपनी आवाज को बुलंद करने के लिये नए साल के पहले ‎दिन विशाल पदयात्रा का आयोजन किया. यह पदयात्रा इंदिरा विहार से खड़े गणेश जी मंदिर तक निकाली गई. इसमें कोटा बचाओ संघर्ष समिति से जुड़े हॉस्टल्स एसोसिएशन, पीजी एसोसिएशन और निजी स्कूल एसोसिएशन सहित राजनीतिक एवं सामाजिक संगठनों के सदस्यों ने हिस्सा लिया है.

  नया वाहन लेने वालों को वाहन की लागत और बीमा का भुगतान अलग-अलग करना पड़ सकता है : इरडा

कोटा व्यापार महासंघ के महासचिव अशोक माहेश्वरी ने बताया कि कोचिंग पर निर्भर रहने वाले सभी लोगों के हालात खस्ताहाल हो गए हैं. अब अगर जल्द कोचिंग शुरू नहीं की गई तो कोटा में हालात बिगड़ जाएंगे. ऐसे में आज नए साल के मौके पर खड़े गणेश जी मंदिर पहुंचकर गणपति के दरबार में कोटा की खुशहाली की कामना की गई. वहीं हॉस्टल एसोसिएशन के अध्यक्ष राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि लगातार सरकार से गुहार लगाई जा रही है लेकिन अब तक सार्थक नतीजे नहीं आए हैं. हालांकि नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने आश्वासन दिया है कि अगले दो-तीन दिन में कोरोना गाइडलाइन के मुताबिक कोचिंग खोलने के आदेश आ जाएंगे. अगर आदेश आ जाएंगे तो 8 जनवरी को कोटा बंद का जो आह्वान किया गया है उसको वापस ले लिया जाएगा.

  अयोध्या के धन्नीपुर में मस्जिद के लिए मिली जमीन पर सांकेतिक शिलान्यास 26 जनवरी को

अन्यथा अब समिति के सदस्य अनिश्चितकालीन कोटा बंद कर देंगे. इस पदयात्रा में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि भी शामिल हुए. उन्होंने भी एक सुर में कोटा में बंद पड़ी कोचिंग संस्थानों को जल्द खोलने की मांग की. कांग्रेस नेता राखी गौतम ने कहा ‎कि सरकार जल्दी गाइडलाइन के मुताबिक कोचिंग खोलने के आदेश जारी कर देगी. कोचिंग खोलने की मांग को लेकर पहले से घोषित पदयात्रा में भारी संख्या में लोगों के जुड़ने से सोशल डिस्टेंस मेंटेन नहीं हो सका. हालांकि आयोजक लगातार अपील करते रहे कि सोशल डिस्टेंस की पालना के साथ पदयात्रा आगे बढ़ाई जाए.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *