उदयपुर में अमेजन द्वारा प्रशिक्षण कार्यशाला 7 को

उदयपुर. सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) को अपने ग्लोबल सेलिंग प्रोग्राम के बारे में जानकारी देने के लिए अमेजऩ डॉट इन उदयपुर में प्रशिक्षण कार्यशालाओं का आयोजन करेगा. यह कार्यक्रम एमएसएमई को साथ लाने और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अमेज़ॅन के वैश्विक बाजारों (ई-कॉमर्स वेबसाइटों) के माध्यम से बिक्री करने में मदद करने के लिए तैयार किया गया है. कार्यशाला रेडिसन, लेक सिटी मॉल, उदयपुर में 7 फरवरी को आयोजित की जाएगी. इनके जरिये, निर्माता और व्यापारी ई-कॉमर्स के माध्यम से बी2सी निर्यात के बारे में अधिक जानकारी हासिल कर पायेंगे और 180 देशों में अमेज़ॅन के 13 अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में लाखों ग्राहकों को अपने उत्पाद बेच पायेंगे. कार्यशाला में, ग्लोबल सेलिंग क्या है, कार्यक्रम का लाभ, विश्वस्तर पर बिक्री कैसे शुरू करें, और रजिस्ट्रेशन के लिए क्या करें आदि सत्र शामिल होंगे.
अमेजऩ इंडिया के निदेशक और हेड ग्लोबल ट्रेड अभिजीत कामरा ने कहा कि हम उदयपुर में एमएसएमई के लिए विभिन्न उत्पाद श्रेणियों में बी2सी ई-कॉमर्स चैनल के माध्यम से या तो निर्यात शुरू करने की या उनके वर्तमान निर्यात व्यवसाय को बढ़ाने की संभावना देखते हैं. ये कार्यशालाएँ अधिक से अधिक भारतीय ब्रांड और एमएसएमई को शामिल करने के हमारे प्रयास का हिस्सा हैं, ताकि हमारे ग्लोबल सेलिंग प्रोग्राम के माध्यम से मेक इन इंडिया इनिशिएटिव की क्षमता का दोहन किया जा सके. यह कार्यक्रम अमेजऩ के अंतर्राष्ट्रीय बाजारों के माध्यम से भारतीय विक्रेताओं को 180 से अधिक देशों के करोड़ों ग्राहकों तक पहुँच प्रदान करता है.
अमेज़ॅन ने भारतीय विक्रेताओं के लिए परिवर्तनकारी अवसर प्रदान करने और उन्हें अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपने व्यापार को बढ़ाने में मदद करने के लिए मई 2015 में भारत में अपने ग्लोबल सेलिंग कार्यक्रम की शुरुआत की थी. वर्तमान में, 60,000 से अधिक भारतीय विक्रेता इस मंच का उपयोग 13अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में अपने उत्पाद बेचने के लिए कर रहे हैं. इस कार्यक्रम के माध्यम से विक्रेता अमेजऩ डॉट काम (अमेरिका), अमेजऩ डॉट को डॉट यूके (यूके), अमेजऩ डॉट डीई (जर्मनी), अमेजऩ डॉट एई (यूएई) आदि में अपना रजिस्ट्रेशन कराते हैं और इन देशों में ग्राहकों को अपने उत्पाद बेचते हैं. ग्लोबल सेलिंग प्रोग्राम के एक हिस्से के रूप में, अमेजऩ सभी तरह के विक्रेताओं को दुनिया भर में बिक्री करने में सक्षम बनाने के लिए थर्ड पार्टी सेवाओं जैसे कराधान, अनुपालन, आईपी सुरक्षा और डिजिटल मार्केटिंग समर्थन आदि की सबसे व्यापक सुविधाएं प्रदान करता है.
  सोनभद्र में 3000 टन नहीं, सिर्फ 160 किलो सोना मौजूद – जीएसआई

Check Also

प्राकृतिक गैस की कीमत अप्रैल से 25 प्रतिशत हो सकती है कम

नई ‎दिल्ली . ‎विदेशी बाजारों में कमजोर कीमतें होने की वजह से भारत में प्राकृतिक …