सुंदर पिचाई के कमान संभालते ही ट्रिलियन डॉलर कंपनी बनी अल्फाबेट

नई दिल्ली (New Delhi) . गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट अब ट्रिलियन डॉलर (Dollar) कंपनी बन गई है. गुरुवार (Thursday) को मार्केट क्लोज होने से पहले अल्फाबेट ने 1 ट्रिलियन डॉलर (Dollar) का मार्केट कैप छू लिया है. यह अमेरिका की चौथी कंपनी बन गई है, जिसने यह आंकड़ा छुआ है. कंपनी के शेयर में अचन उछाल आ गया और एक शेयर की कीमत बढ़ कर 1,451.70 हो गई.

गौरतलब है कि हाल ही में गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को अल्फाबेट की भी कमान सौंप दी गई है और अब वह गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट के भी सीईओ हैं. गूगल को-फाउंडर्स लैरी पेज और ब्रिन ने अल्फाबेट के सीईओ और चेयरमैन के पद से इस्तीफा दे दिया था.

  माइक्रोमेक्स ने लॉन्च किए दो नए ईयरबड्स

आपको बता दें कि एपल अमेरिका की पहली कंपनी थी जिसने 2018 में 1 ट्रिलियन डॉलर (Dollar) का मार्केट कैपिटल हिट किया था. इसके बाद ई-कॉमर्स कंपनी अमेजॉन भी 1 ट्रिलियन डॉलर (Dollar) मार्केट कैप वाली कंपनी बन गई. अप्रैल 2019 में अमेरिकी टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने भी 1 ट्रिलियल डॉलर (Dollar) का आंकड़ा छुआ था. यानी अमेरिका की चार बड़ी टेक कंपनी एपल, गूगल, ऐमेजॉन और माइक्रोसॉफ्ट 1 ट्रिलियल डॉलर (Dollar) का आंकड़ा छू चुकी हैं.

  एप्पल का सबसे ज्यादा बिकने वाला टैबलेट है आईपेड

अब बारी फेसबुक की है और जो फिलहाल 600 बिलियन के ऊपर के मार्केट कैप वाली कंपनी है. हालांकि पहली बार जिस कंपनी ने 1 ट्रिलियन डॉलर (Dollar) का मार्केट कैप हिट किया था वह अमेरिकी कंपनी नहीं, बल्कि चीन की पेट्रोचाइना कंपनी थी. इस कंपनी ने यह आंकड़ा 2007 में छुआ था. फार्च्यून के मुताबिक दुनिया में सबसे ज्यादा प्रॉफिट बनाने वाली कंपनियों की लिस्ट में नंबर-1 पर सउदी अरब की तेल कंपनी सउदी अरामको है.

  शाओमी एमआई मिक्स 4 जल्द होगा लॉन्च - लॉन्च से पहले लीक हुए वेरिएंट्स और फीचर्स डीटेल

दूसरे नंबर पर एपल है, जबकि अल्फाबेट का नंबर इस लिस्ट में 7वां है. सउदी अरब की तेल कंपनी अरामको को पिछले साल ही रियाद स्टॉक एक्स्चेंज में लिस्ट किया गया है और इसके बाद यह 2 ट्रिलियन डॉलर (Dollar) मार्केट कैप वाली पहली कंपनी बन गई है.

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें