प्रदेश में 282 की जगह 161 सैशन साइट पर होगा वैक्सीनेशन


जयपुर (jaipur) . भारत सरकार के निर्देशानुसार प्रदेश में 16 जनवरी से शुरू होने वाली कोरोना वैक्सीन अब पूर्व में प्रस्तावित 282 सैशन साइट की बजाय 161 सेंटर्स पर लगाई जाएगी. चिकित्सा व स्वास्थ्य सचिव सिद्धार्थ महाजन ने बताया कि मुख्यमंत्री (Chief Minister) के निर्देश पर वैक्सीनेशन की सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं. उन्होंने बताया कि 16 जनवरी को टीकाकारण का कार्य प्रधानमंत्री द्वारा शुभारम्भ कार्यक्रम के समापन के बाद ही शुरू किया जाएगा. उन्होंने बताया कि कोविशील्ड की एक वॉयल में 10 डोज है एवं कोवैक्सीन की एक वॉयल में 20 डोज है. महाजन ने बताया कि सत्र स्थल पर लाभार्थी की संख्या व वैक्सीन वॉयल का पूर्ण उपयोग किया जायेगा.

  कोटा में मई-2022 से हर घर को 24 घंटे मिलेगा पानी, प्रगति पर पेयजल सप्लाई तंत्र के रिनोवेशन का कार्य

महाजन ने बताया कि यदि किसी एक सैशन साईट पर सभी लाभार्थियों को वैक्सीन लगाने का कार्य पूरा हो जाए तो उसके बाद नया सत्र स्थल शुरू किया जा सकता है. शुरूआत में केवल मेडिकल कॉलेज अस्पताल, जिला अस्पताल, उपजिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र को ही सत्र स्थल के रूप में चयनित किया जाए एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र को इन सबके बाद प्रस्तावित किया जाए. चिकित्सा व स्वास्थ्य सचिव ने बताया कि इनमें उन चिकित्सा संस्थानो को प्राथमिकता दी गई है जहां पर एईएफआई मैनेजमेन्ट सेन्टर है.

किसी भी सत्र स्थल हेतु लाभार्थियो की मैपिंग, कोविन सॉफटवेयर में जिनका रजिस्ट्रेशन पहले हुआ है उसी क्रम में फस्र्ट इन फस्र्ट आउट के आधार पर ही की जायेगी.सचिव ने बताया कि सभी जिले 31 जनवरी तक की कार्ययोजना अभी से तैयार कर लें. कोविड वैक्सीनेशन सप्ताह में केवल चार दिन ही आयोजित किया जायेगा. जनवरी माह में इसके लिए 16, 18, 19, 22, 23, 25, 27, 29, 30 व 31 को सत्र आयोजित किये हैं. यदि किसी जिले में हेल्थ केयर वर्कर्स के टीकाकरण का कार्य 31 जनवरी से पहले पूर्ण हो रहा है तो तत्काल राज्य स्तर पर सूचित करें. उन्होंने बताया कि प्रतिदिन सत्र समाप्ति हेतु निर्धारित समय सांय 5 बजे तक यदि बुलाये गये सभी लाभार्थियों को टीकाकरण नही हो पाता है तो उस सत्र स्थल पर 5 बजे तक आये सभी लाभार्थियों के टीकाकरण पूर्ण होने के बाद ही सत्र समाप्त किया जाए.

  कोवैक्सीन के फर्स्ट फेज के ट्रायल का नतीजा कोई गंभीर दुष्प्रभाव नहीं

उन्होंने बताया कि जिलों को आवंटित वैक्सीन को यथासंभव जिला वैक्सीन स्टोर पर ही भण्डारण किया जावे ताकि उनके संधारण व सुरक्षा में सुविधा रहे. जिला वैक्सीन स्टोर से अन्तिम कोल्ड चैन पॉईन्ट पर वैक्सीन की आपूर्ति सत्र आयोजन से दो दिन पहले की जावे. जिला वैक्सीन स्टोर से वैक्सीन को फस्र्ट एक्सपायरी फस्र्ट आउट के सिद्वान्त पर जारी किया जाए. उन्होंने कहा कि जिलों को आवंटित वैक्सीन की आधी संख्या ही प्रथमतया ही उपयोग में लाई जाए तथा शेष आधी मात्रा को इन्ही लाभार्थियों को दी जाने वाली दूसरी डोज हेतु सुरक्षित रखा जाए जो कि 28 दिन बाद दी जानी है.

Please share this news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *