उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू बोले आतंकवाद का समर्थन करने वाले देशों को अलग-थलग करें


नई दिल्ली (New Delhi). उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि आतंकवाद का समर्थन करने और उसे बढ़ावा देने वाले देशों को अलग-थलग करने के लिए सभी देशों को एकजुट होना चाहिए. आतंकवाद रोधी दिवस पर अपने संदेश में नायडू ने कहा कि आतंकवाद के दंश से मातृभूमि की रक्षा करते हुए अपनी जान न्यौछावर करने वाले वीर सपूतों और बेटियों को श्रद्धांजलि दी.

  माउंट आबू में साधु-संतों से की गई मारपीट

आतंकवाद मानवता का शत्रु है और वैश्विक शांति के लिए सबसे बड़ा खतरा है. किसी भी रूप में आतंकवाद का समर्थन करने और उसे बढ़ावा देने वाले देशों को अलग-थलग करने के लिए सभी देशों को एक साथ आना चाहिए. नायडू ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई अकेले सुरक्षाबलों की जिम्मेदारी नहीं है बल्कि इस शत्रु के खिलाफ लड़ाई हर नागरिक का कर्तव्य है. उपराष्ट्रपति ने अपने संदेश में कहा, ”आतंकवाद को परास्त करने के लिए हर भारतवासी से देश में एकता और सौहार्द बनाए रखने की अपेक्षा करता हूं. उपराष्ट्रपति सचिवालय ने इस संदेश को ट्वीट किया. पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि के अवसर पर आतंकवाद रोधी दिवस मनाया जाता है. उनकी 1991 में आज ही के दिन हत्या (Murder) कर दी गई थी.

  कोरोना के खिलाफ अपनी जिम्मेदारी को निभाने में विफल रही गहलोत सरकार: राज्यवर्धन राठौड़

Check Also

प्रवासी मजदूरों की हालत पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारों को नोटिस जारी किया

नई दिल्ली (New Delhi). कोरोना लॉक डाउन के बीच परेशान हो रहे प्रवासी मजदूरों की …