टी20 विश्व कप सुपर 12 में वेस्टइंडीज ओर इंग्लैंड में होगा मुकाबला

दुबई . आईसीसी टी20 विश्व कप क्रिकेट की दो बार विजेता रही वेस्टइंडीज टीम शनिवार (Saturday) को यहां होने वाले सुपर 12 के पहले मैच में इंग्लैंड से मुकाबला करेगी. वेस्टइंडीज की इस टीम में हालांकि टी20 के कई आक्रामक बल्लेबाज हैं पर पाकिस्तान और अफगानिस्तान के खिलाफ अभ्यास मैचों में हार से वह दबाव में हैं.

ऐसे में जीत के लिए कीरोन पोलार्ड की कप्तानी वाली इस टीम को अपने खेल को बेहतर करने के साथ ही खिलाड़ियों का मनोबल भी बढ़ाना होगा. अब तक के दोनों अभ्यास मैचों में वेस्टइंडीज की बल्लेबाजी खराब रही है. पाकिस्तान के खिलाफ टीम सात विकेट पर 130 रन ही बना पायी जबकि अफगानिस्तान के खिलाफ 189 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए पांच विकेट पर 133 रन ही बना पायी थी.

अफगानिस्तान के खिलाफ केवल रोस्टन चेज टिककर खेल पाये लेकिन उन्होंने भी अपने 54 रन के लिये 58 गेंदें खेली. दोनों मैचों में उसका कोई भी बल्लेबाज अपनी अच्छी शुरुआत का लाभ नहीं उठा पाया. पाकिस्तान के खिलाफ पोलार्ड ने 10 गेंदों पर 23 रन बनाये और डेथ ओवरों में उनकी आक्रामक बल्लेबाजी अब भी टीम के लिये बेहद महत्वपूर्ण साबित होगी.
वेस्टइंडीज को अगर कम से कम तीन मैच जीतकर सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई करना है तो इविन लुईस, लेंडल सिमन्स, शिमरोन हेटमायर और निकोलस पूरण जैसे अनुभवी बल्लेबाजों को रन बनाने होंगे. वेस्टइंडीज के लिये स्टार खिलाड़ी क्रिस गेल की खराब फॉर्म सबसे बड़ी चिंता है. गेल कैरेबियाई प्रीमियर लीग के नौ मैचों में केवल 165 रन बना पाये थे और इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल (Indian Premier League)) के यूएई चरण में पंजाब (Punjab) किंग्स की तरफ से केवल दो मैच ही खेल पाये थे.

वहीं अनुभवी ऑराउंडर आंद्रे रसेल फिटनेस संबंधी मसलों के कारण परेशान हैं. जांघ की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण वह यूएई में कोलकाता (Kolkata) नाइट राइडर्स की तरफ से केवल तीन मैचों में खेले थे. दूसरी ओर गेंदबाजी की बात की जाए तो अभ्यास मैचों में केवल स्पिनर हेडन वाल्श और बायें हाथ के तेज गेंदबाज ओबेद मैकॉय ही कुछ हद तक प्रभावी रहे थे. दूसरी ओर कप्तान इयोन मोर्गन की इंग्लैंड टीम अपने स्टार खिलाड़ियों बेन स्टोक्स, जोफ्रा आर्चर और सैम करेन की अनुपस्थिति के बाद भी संतुलित लगती है. उसकी बल्लेबाजी में जैसन रॉय, जोस बटलर और जॉनी बेयरस्टॉ जैसे आक्रामक बल्लेबाज हैं जो किसी भी गेंदबाजी आक्रमण को बिखेर सकते हैं. इंग्लैंड अपने पहले अभ्यास मैच में भारत से हार गया था लेकिन उसने दूसरे मैच में न्यूजीलैंड को हराकर अच्छी वापसी की थी.
भारत के खिलाफ बेयरस्टॉ और मोईन अली जबकि न्यूजीलैंड के खिलाफ बटलर ने अच्छी बल्लेबाजी की थी. इंग्लैंड की गेंदबाजी की जिम्मेदाररी मार्क वुड, आदिल राशिद, डेविड विली, क्रिस वोक्स और मोईन पर रहेगी.

दोनो ही टीमें इस प्रकार हैं :
वेस्टइंडीज : कीरोन पोलार्ड (कप्तान), निकोलस पूरण, ड्वेन ब्रावो, रोस्टन चेज, आंद्रे फ्लेचर, क्रिस गेल, शिमरोन हेटमायर, एविन लुईस, ओबेद मैककॉय, लेंडल सिमंस, रवि रामपॉल, आंद्रे रसेल, ओशेन थॉमस, हेडन वॉल्श जूनियर और अकील हुसैन.
इंग्लैंड : इयोन मोर्गन (कप्तान), मोईन अली, जॉनी बेयरस्टो, सैम बिलिंग्स, जोस बटलर, टॉम करेन, क्रिस जॉर्डन, लियाम लिविंगस्टोन, डेविड मलान, टाइमल मिल्स, आदिल राशिद, जेसन रॉय, डेविड विली, क्रिस वोक्स, मार्क वुड.

न्‍यूज अच्‍छी लगी हो तो कृपया शेयर जरूर करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *