चीन की जू वेंजून फिर बनी महिला शतरंज की विश्व चैम्पियन


ब्लादिवोस्टोक (रूस). फीडे विश्व महिला शतरंज चैंपियन का खिताब एक बार फिर चीन की जू वेंजून ने अपने नाम कर लिया. उन्होंने टाईब्रेक मुक़ाबले मे रूस की युवा चैलेंजर आलेक्सान्द्रा गोरयाचकिना को 2.5-1.5 से पराजित करते हुए लगातार दूसरी बार विश्व खिताब हासिल करने में सफलता पाई. सभी मैच को मिलाकर फाइनल परिणाम 8.5-7.5 रहा.12 क्लासिकल मुकाबलों के बाद भी परिणाम 6-6 रहने के कारण टाईब्रेक मुकाबलों में चार रैपिड मुक़ाबले खेले गए. हालांकि यह बात जानना रोचक होगा कि पहले और दूसरे मुक़ाबले में गोरयाचकिना जीत के बेहद नजदीक जाकर मुक़ाबला नहीं जीत सकी और दोनों ही मुकाबलो में वेंजून नें वापसी करते हुए मैच ड्रॉ कराने में सफलता हासिल कर ली और इस तरह स्कोर 7-7 हो गया.

  29 मार्च से शुरु होगा इंडियन प्रीमियर लीग, पहला मुकाबला मौजूदा चैंपियन मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच

तीसरा रैपिड टाईब्रेक निर्णायक साबित हुआ जब रेटी ओपनिंग में शुरुआत से ही मजबूत खेल खेलते हुए वेंजून नें अपने शानदार आक्रमण से गोरयाचकिना के राजा की कमजोर स्थिति से मैच में 45 चालों में जीत दर्ज की और रैपिड में 2-1 तो कुल मिलाकर 8-7 से आगे हो गई. ऐसे में अंतिम रैपिड मुक़ाबले में गोरयाचकिना को जीत की शख्त जरूरत थी पर क्यूजीडी ओपनिंग में हुए इस मुक़ाबले में 77 चालों तक ज़ोर लगाने के बाद भी मैच ड्रॉ रहा और जु वेंजून बनी गई एक बार फिर विश्व महिला शतरंज चैम्पियन.

  यूरोपियन चैंपियंस लीग नहीं खेल पायेगी मैनचेस्टर सिटी

कहां चूकी गोरयाचकिना-पूरी प्रतियोगिता में कई ऐसे मौके आए जब रूस की 21 वर्षीय इस युवा प्रतिभा ने बेहद मजबूत स्थिति हासिल की और जीतने के करीब थी पर ऐसे में वह दबाव नहीं झेल पाई और गलतियां कर गई, साथ ही कई बार बराबर के एंडगेम में वह अपनी खराब तकनीक के चलते मैच हार गईं. पर जिस उम्र में वह है उनके लिए मेहनत करके वापसी करने के कई और मौके आएंगे. विश्व चैम्पियन जू वेंजून को यह मुक़ाबला जीतने पर पुरस्कार स्वरुप राशि का 55 फीसदी 2 करोड़ 20 लाख रुपए मिले, जबकि उपविजेता गोरयाचकिना को एक करोड़ 80 लाख रुपए मिले

  कोरोना संक्रमण के कारण मेबैंक चैम्पियनशिप और वोल्वो चाइना ओपन स्थगित

Check Also

IPL में घरेलू खिलाडियों का प्रदर्शन अहम : दिल्ली कैपिटल्स द्वारा चुने गए अनुभवी पेसर है मोहित शर्मा

नई दिल्ली. आईपीएल 2020 में भारतीय खिलाड़ियों की मजबूत फौज कैपिटल्स के लिए अंतर पैदा …