योग गुरु रामदेव ने कहा,सरकार को महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर काम करना चाहिए


नई दिल्ली . अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर विपक्ष केंद्र सरकार को लगातार निशाने पर ले रहा है. विपक्ष के साथ मोदी सरकार के समर्थक योग गुरु रामदेव ने शुक्रवार को कहा कि सरकार को महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दे पर काम करना चाहिए. यह बात योग गुरु रामदेव ने शुक्रवार को एक कार्यक्रम के दौरान कही. बता दें कि आर्थिक मोर्चे पर मोदी सरकार को लगातार झटके पर झटके लग रहे हैं. दुनिया की कई बड़ी एजेंसियों ने भारत की जीडीपी के अनुमान को घटाया है. भारत की जीडीपी एक वक्त लगातार 7 प्रतिशत से तेज चल रही थी, वहां अनुमान अब 5 प्रतिशत के नीचे चला गया है.

  विचार-मंथन / घरेलू हिंसा का दायरा : सिद्धार्थ शंकर

इस कार्यक्रम में रामदेव ने कहा कि अभी देश में महंगाई और बेरोजगारी पर काम करना जरूरी है. विपक्ष को देश का फायदा देखना चाहिए और हर मुद्दे में राजनीति नहीं करनी चाहिए. एक वक्त था जब देश में लाखों-करोड़ों रुपये के घोटाले भी हुए हैं, लेकिन हमें इसपर ध्यान देना होगा. योगगुरु रामदेव ने कहा कि मलेशिया, इंडोनेशिया जैसे देशों ने भारत को लेकर गलत बयान दिए, इसी वजह से सरकार ने सख्त कार्रवाई की. आज भी देश में 50 हजार करोड़ से अधिक का निवेश विदेशी कंपनियों का है.

  गुजरात में 396 नए केस, अहमदाबाद में कोरोना का आंकड़ा 10000 के पार

रामदेव ने कहा कि शिक्षा, व्यापार और संस्कृति के क्षेत्रों में अभी भी हम गुलामी का शिकार हो रहे हैं. जनसंख्या नियंत्रण के मामले पर कहा कि देश में जनसंख्या नियंत्रण को लेकर कदम बढ़ाने चाहिए क्योंकि जमीन या रिसॉर्स को बढ़ाना संभव नहीं है. नागरिकता संशोधन एक्ट के मसले पर रामदेव बोले कि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री ने कई बार इस पर बात की है. दोनों ने बताया है कि इससे देश के नागरिकों को कोई लेना-देना नहीं है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग अल्पसंख्यकों को गुमराह करने का प्रयास कर रहे हैं. सीएए पर जो प्रदर्शन हो रहा है उसमें कुछ राजनीतिक पार्टियों और विदेशियों का हाथ है, ताकि देश में हिंसा जैसा माहौल पैदा हो जाए.

  सऊदी में नहीं दिखा ईद का चांद, भारत में 25 को मनाई जाएगी ईद

Check Also

उदयपुर से बसों द्वारा कोटा गये छत्तीसगढ़ के 350 प्रवासी, वहां से रेल द्वारा जाएंगे छत्तीसगढ़

उदयपुर (Udaipur). जिला कलक्टर (District Collector) श्रीमती आनंदी के निर्देशन में जिले से अन्य राज्यों …