Wednesday , 14 April 2021

अंतर्राष्ट्रीय मैत्री मुकाबलों से युवा महिला फुटबॉलरों को मिलेगा अनुभव : मेमोल रॉकी

नई दिल्ली . भारतीय महिला फुटबॉल टीम की युवा खिलाड़ी उज्बेकिस्तान और बेलारूस के खिलाफ अगले दिनों में होने वाले अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैचों में अनुभव हासिल करने की उम्मीद लगाए हैं. भारत को पांच अप्रैल को मेजबान उज्बेकिस्तान से और आठ अप्रैल को बेलारूस से मुकाबला करना है. मुख्य कोच मेमोल रॉकी की निगाहें भारत में होने वाले एएफसी महिला एशिया कप 2022 पर लगी हैं. उनका मानना है कि मैत्री मैचों से युवा महिला फुटबालरों को काफी अनुभव मिलेगा, जिसका लाभ महिला एशिया कप के 2022 में होने वाले मुकाबले में मिलेगा.

  क्रिस गेल अब संगीत के मैदान में, नया गाना 'जमैका टू इंडिया' रिलीज

युवा खिलाड़ी मार्टिना थोकचोम ने कहा कि जब मैं टीम से जुड़ी थी तो काफी नर्वस थी, लेकिन सीनियर खिलाड़ियों ने मेरा काफी अच्छी तरह स्वागत किया और मुझे सहज महसूस कराया. उन्होंने मुझे मैदान के अंदर और बाहर दोनों जगह मदद की जिससे मुझे टीम का हिस्सा बनने में मदद मिली. उन्होंने मैत्री मैचों के बारे में कहा उज्बेकिस्तान काफी ऊंची रैंकिंग की टीम (हालिया फीफा रैंकिंग में 41वें स्थान पर) है और हमें अगले साल एएफसी महिला एशियाई कप खेलना है इसलिए यह मैत्री मैच काफी अहम है.

  वानखेड़े स्टेडियम में बिना निगेटिव RT-PCR रिपोर्ट के नहीं होगी एंट्री

यह मैच हमारे लिए काफी चुनौतीपूर्ण होने वाला है. हम इसे अच्छी तैयारी के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं. वहीं मिडफील्डर संगिता बसफोर ने कहा कि कोविड-19 (Covid-19) महामारी (Epidemic) के बीच इन मौकों के लिए वह शुक्रगुजार हैं. उन्होंने कहा कि मुझे अधिकारियों को शुक्रिया कहने की जरूरत है, जिन्होंने हमें इस समय में भी ट्रेनिंग के मौके उपलब्ध कराए.

  धोनी बन गए प्रोड्यूसर, बना रहे एनिमेटेड जासूस आधारित सीरीज कैप्टन 7

 

Rajasthan news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *