RELIGION

चिंतन-मनन / द्वंद्व के बीच शांति की खोज

केवल ज्ञान की बातें करों. किसी व्यक्ति के बारे में दूसरे व्यक्ति से सुनी बातें मत दोहराओ. जब कोई व्यक्ति तुम्हें नकारात्मक बातें कहे, तो उसे वहीं रोक दो, उस पर वास भी मत करो. यदि कोई तुम पर कुछ आरोप लगाये, तो उस पर वास न करो. यह जान लो कि वह बस तुम्हारे बुरे कर्मो को ले रहा …

Read More »

अमरनाथ यात्रा होने वाले एडवांस रजिस्ट्रेशन 15 अप्रैल तक टले

जम्मू . कोरोना (Corona virus) के संक्रमण को रोकने के लिए जारी लॉकडाउन (Lockdown) के चलते इस साल की अमरनाथ यात्रा की एडवांस रजिस्ट्रेशन को 15 दिनों के लिए टाल दिया गया है. 23 जून से शुरू होने वाली यात्रा का एडवांस रजिस्ट्रेशन 1 अप्रैल से शुरू होना था जिसे अब 15 अप्रैल तक टाल दिया गया है. अमरनाथ श्राइन …

Read More »

चैत्र नवरात्र : माँ कालरात्रि के पूजन से विघ्न बाधाओं का नाश

जबलपुर,. कोरोना (Corona virus) को लेकर शहर में लगे कफर््यू के कारण नगर और उपनगरीय क्षेत्रों के देवी मंदिरों में सन्नाटा सा नजर आ रहा है जो इसके पहले कभी नहीं देखा गया. जहां नवरात्र पर आकर्षक विद्युत साज-सज्जा से सजे देवी दरबारों में भक्तों की भीड़ उमड़ती थी. शहर की सडक़ों में श्रद्धालुओं का काफिला मातारानी के दर्शनार्थ उमड़ता …

Read More »

मां दुर्गा के नौ अलौकिक रूप नौ शक्तियों का मिलन पर्व ‘नवरात्रि’ : योगेश कुमार गोयल

भारतीय समाज और विशेषकर हिन्दू समुदाय में नवरात्र का विशेष महत्व है, जो आदि शक्ति दुर्गा की पूजा का पावन पर्व है. नवरात्रि के नौ दिन देवी दुर्गा के विभिन्न नौ स्वरूपों की उपासना के लिए निर्धारित हैं और इसीलिए नवरात्रि को नौ शक्तियों के मिलन का पर्व भी कहा जाता है. प्रतिपदा से शुरू होकर नवमी तक चलने वाले …

Read More »

चिंतन-मनन / अपनेपन का प्रेम असली प्रेम

जब प्रेम बहुत गहरा होता है, तब तुम किसी भी गलतफहमी के लिए पूरी जिम्मेवारी लेते हो. पल भर के लिए ऊपरी तौर से नाराजगी व्यक्त कर सकते हो, परन्तु जब इस नाराजगी को दिल से महसूस नहीं करते, तब तुम एक-दूसरे को अच्छी तरह समझ पाते हो. तब तुम उस अवस्था में हो जहां सभी समस्याएं और मत-भेद मिट …

Read More »

बुध और चंद्र मिलकर उबारेंगे कोरोनावायरस के संक्रमण से

भोपाल (Bhopal) . कोरोनावायरस के संक्रमण को लेकर सारी दुनिया भयाक्रांत है. भारत के ज्योत्षी भी इससे अछूते नहीं हैं. ज्योतिष विज्ञान के अनुसार कोरोनावायरस महामारी का संकट शनि और सूर्य के मिलने से आया है. ज्योतिषियों के अनुसार कोरोनावायरस का यह संकट बुध और चंद्र के एक साथ आने पर ही खत्म होगा. 14 अप्रैल के बाद कोरोनावायरस की …

Read More »

चिंतन-मनन / दूर करें अध्यात्म विद्या का अभाव

अध्यात्म विद्या के विषय में अधिकांश भौतिक विद्वान शिक्षा को ही विद्या मान बैठते हैं. वे विद्या और शिक्षा के अंतर को भी समझने में असमर्थ हैं जबकि विद्या और शिक्षा में धरती और आसमान का अंतर है. इस विषय को स्पष्ट करते हुए महात्मा परमचेतनानंद ने अपने प्रवचन में कहा कि शिक्षा शब्द शिक्ष धातु से बना है जिसका …

Read More »

कोरोना: पहली बार कालकाजी मंदिर से नवरात्र जोत नहीं ले जा सके भक्त

नई दिल्ली (New Delhi) . देशभर में कोरोना (Corona virus) के मद्देनजर 14 अप्रैल तक लॉकडाउन (Lockdown) लागू हो चुका है. साथ ही चैत्र नवरात्र शुरू हो चुके हैं, लेकिन इस बार लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से मंदिरों में लोग नहीं जुट पाए और मंदिरों में सन्नाटा पसरा रहा. पहली बार कालकाजी मंदिर से मां के भक्त नवरात्र की जोत …

Read More »

चिंतन-मनन / हनुमान से सीखें संस्कार

दूसरे का मान रखते हुए हम सम्मान अर्जित कर लें, इसमें गहरी समझ की जरूरत है. होता यह है कि जब हम अपनी सफलता, सम्मान या प्रति…ा की यात्रा पर होते हैं, उस समय हम इसके बीच में आने वाले हर व्यक्ति को अपना शत्रु ही मानते हैं. महत्वाकांक्षा पूरी करने के लिए मनुष्य सारे संबंध दांव पर लगा देता …

Read More »

रामलला अस्थायी मंदिर में शिफ्ट, सीएम योगी ने कराया विराजमान, नहीं रही भीड़

अयोध्या. श्रीरामजन्मभूमि पर भव्य राममंदिर निर्माण के प्रथम चरण का अनुष्ठान आज सुबह पूरा हो गया. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री (Chief Minister) योगी आदित्यनाथ ने भगवान श्री राम लला को टेंट से लेकर अस्थाई भवन में विराजमान कराया. रामलला तीनों भाइयों भरत, लक्ष्मण, शत्रुघ्न और हनुमान जी के साथ अस्थायी मंदिर में विराजमान हुए. वैदिक मंत्रोउच्चरण के साथ रामलला अस्थाई …

Read More »

मंदिरों में इसलिए चढ़ाए जाते हैं नारियल और नींबू

आदिकाल से ही दुनिया के लगभग सभी धर्मों में बलि देने की प्रथा मौजूद रही है. हालांकि ईश्वर भाव का भूखा होता हैं. आजतक किसी ने भगवान कभी किसी वस्तु का उपभोग करते हुए नही देखा है. भारत में भी कई जगहों पर देवी -देवताओं को जानवरों की बलि दी जाती रही है. परन्तु क्या आप जानते हैं कि बलि …

Read More »

शनि की महादशा दूर करने शनिवार को ऐसे करें अचूक उपाय, शनिवार को ये न करें

शास्त्रों में भगवान शनिदेव को न्याय एवं कर्म प्रधान देवता माना गया है शनिदेव मनुष्य को उसके कर्मों के अनुसार फल देते हैं. शनिदेव को सूर्य का पुत्र कहा जाता है. शनिदेव को लेकर लोगों के बीच कई धारणाएं बनी हुई हैं. शनिदेव को नकारात्मक तरीके से देखा जाता है. आमतौर पर अवधारणा है कि शनि देव लोगों की बुरा …

Read More »

घर में कभी न लाएं भगवान की ऐसी प्रतिमाएं

सभी लोगों के घर में भगवान की प्रतिमाएं अथवा चित्र मौजूद होते हैं. परन्तु क्या आप जानते हैं कि भगवान के सभी चित्र अथवा प्रतिमाएं घरों में लगाना शुभ नहीं होता. कुछ चित्र अथवा प्रतिमाएं ऐसी भी होती हैं जिन्हें घर में लगाना और उनके दर्शन करना आपके लिए दुर्भाग्य का कारण बन सकता है. – घर के मंदिर में …

Read More »

समृद्धि की जानकारी देंती हैं ये रेखाएं, अगर पति-पत्नी दोनों के हाथ में हो एम अक्षर

कहा जाता है कि व्यक्ति को किस्मत से अधिक तथा समय से पहले कुछ भी हासिल नही होता है अर्थात भाग्यवादी लोग मानते हैं कि वहीं होता है जो कि किस्मत में लिखा होता है. ज्योतिष में भाग्य जानने के लिए कई विधाएं मौजूद है. परन्तु सामुद्रिक शास्त्र में दिए सिद्धान्तों का प्रयोग कर हम किसी का भी भविष्य चुटकियों …

Read More »

घट-कलाश स्थापना के साथ कोराना के साये में देवी आराधना, आदिशक्ति के महापर्व का पदार्पण

जबलपुर. आदिशक्ति के महापर्व चैत्र नवरात्र की शुरूआत बुधवार को शुभ मुहूर्त में घट-कलश स्थापना के साथ की गई. इसी के साथ ही आस्था की लौ में भक्ति की जोत चौतरफा दमकने लगी है जो पूरे नौ दिनों तक दिव्यता को धारण करेगी. कोराना वायरस के चलते शहर में लगे कफर््यू और लॉकडाउन (Lockdown) के कारण नगर की प्रमुख शक्तिपीठों …

Read More »

चिंतन-मनन/ हर जीव में व्याप्त नारायण

वैदिक साहित्य से हम जानते हैं कि परम-पुरुष नारायण प्रत्येक जीव के बाहर तथा भीतर निवास करने वाले है. वे भौतिक तथा आध्यात्मिक दोनों जगतों में विद्यमान हैं. यद्यपि वे बहुत दूर हैं, फिर भी हमारे निकट हैं-आसीनो दूरं व्रजति शयानो याति सर्वतरू हम भौतिक इन्द्रियों से न तो उन्हें देख पाते हैं, न समझ पाते हैं अतएव वैदिक भाषा …

Read More »

सबकी सुख समृद्धि के लिए होता है। नवसंवत्सर : डॉ. नीलम महेंद्र

जो सभ्यता अपने इतिहास पर गर्व करती है, अपनी संस्कृति को सहेज कर रखती है और अपनी परंपराओं का श्रद्धा से पालन करके पीढ़ी दर पीढ़ी आगे बढ़ाती है वो गुज़रते वक्त के साथ बिखरती नहीं बल्कि और ज्यादा निखरती जाती है. जब चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा के सूर्योदय के साथ सम्पूर्ण भारत के घर घर में लोग अपने …

Read More »

चिंतन-मनन / प्रकाशस्रोत परमात्मा

परमात्मा या भगवान ही सूर्य, चन्द्र तथा नक्षत्रों जैसी प्रकाशमान वस्तुओं के प्रकाशस्रोत हैं. वैदिक साहित्य बताता है कि वैकुंठ राज्य में सूर्य या चन्द्रमा की आवश्यकता नहीं पड़ती, क्योंकि वहां परमेश्वर का तेज विद्यमान है.भौतिक जगत में ब्रम्हज्योति या भगवान का आध्यात्मिक तेज भौतिक तत्वों से ढका रहता है. अत: हमें सूर्य, चन्द्र, बिजली आदि के प्रकाश की आवश्यकता …

Read More »

चिंतन-मनन / अंतर्दृष्टि से अनुबंधित है ज्ञान

बुद्धि अच्छी चीज है, पर कोरी बौद्धिकता ही सब कुछ नहीं है. इससे व्यक्ति के जीवन में नीरसता और शुष्कता आती है. ज्ञान अंतर्दृष्टि से अनुबंधित है, इसलिए यह अपने साथ सरसता लाता है. ज्ञानी व्यक्तियों के लिए पुस्तकीय अध्ययन की विशेष अपेक्षा नहीं रहती. भगवान महावीर ने कब पढ़ी थीं पुस्तकेंट आचार्य भिक्षु, संत तुलसी, संत कबीर अदि जितने …

Read More »

चिंतन-मनन / विवेक ही धर्म है

युग के आदि में मनुष्य भी जंगली था. जब से मनुष्य ने विकास करना शुरू किया, उसकी आवश्यकताएं बढ़ गई. आवश्यकताओं की पूर्ति न होने से समस्या ने जन्म लिया. समस्या सामने आई तब समाधान की बात सोची गई. समाधान के स्तर दो थे- पदार्थ-जगत, मनो-जगत. प्रथम स्तर पर पदाथरे के सुनियोजित उत्पादन और उनकी व्यवस्था को आकार मिला. दूसरा …

Read More »

कोरोना के खौफ से श्रीहरिमंदिर साहिब में संगत की आमद नाममात्र

अमृतसर . कोरोना वायरस के खौफ के कारण श्री हरिमंदिर साहिब में संगत की आमद नाममात्र रही. श्री हरिमंदिर साहिब परिसर व दूसरे गुरुद्वारों में आने वाली संगत की हिफाजत के लिए शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने पुख्ता प्रबंध किए हैं. मुख्य सचिव डा. रूप सिंह ने बताया कि फिलहाल घंटाघर वाली साइड पर सेहत विभाग व शिरोमणि कमेटी के …

Read More »

चिंतन-मनन / धर्म क्या है?

धर्म के मुख्यत: दो आयाम हैं. एक है संस्कृति, जिसका संबंध बाहर से है. दूसरा है अध्यात्म, जिसका संबंध भीतर से है. धर्म का तत्व भीतर है, मत बाहर है. तत्व और मत दोनों का जोड़ धर्म है. तत्व के आधार पर मत का निर्धारण हो, तो धर्म की सही दिशा होती है. मत के आधार पर तत्व का निर्धारण …

Read More »

कोरोना: माता वैष्णो देवी की यात्रा आज से बंद, अंतर्राज्यीय बसों आने जाने पर रोक

नई दिल्ली . कोरोना वायरस के चलते श्री माता वैष्णो देवी की यात्रा आज से बंद किया गया है. वहीं जम्मू-कश्मीर से आने और जाने वाली सभी अंतर्राज्यीय बसों के परिचालन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है. इससे पहले वैष्णो देवी धाम स्थित अर्द्धकुंवारी प्राकृतिक गुफा को बंद किया गया था. वहीं श्रीनगर एनआईटी के बाद जम्मू में आईआईटी और …

Read More »

आम तौर पर लोग शनि देव के प्रकोप से भयभीत रहते लेकिन भक्तों पर कृपा-दृष्टि भी रखते हैं शनिदेव

आम तौर पर लोग शनि देव के प्रकोप से भयभीत रहते हैं. लोगों के मन में भय रहता है कि जाने,अनजाने कहीं शनि भगवान नाराज न हो जाए. शनिदेव का नाराज होना वाकई कष्टदायी हो सकता है. शनिदेव प्रसन्न हो जाएं तो रंक को राजा वहीं क्रोधित हो जाएं तो राजा को रंक बनने में देर नहीं लगती है. इसलिए …

Read More »

घर में सौभाग्य के लिए लगाये शमी का पेड़

प्राचीन मान्यता है कि शमी का पेड़ घर में सौभाग्य लाता है. शमी का पेड़ लगाने से उसमें रहने वालों पर देवी-देवताओं की कृपा बनी रहती है और घर में सकारात्‍मक ऊर्जा के साथ सुख-समृद्धि भी बनी रहती है. भगवान शिव को शमी के फूल अति प्रिय माने जाते हैं. रोजाना पूजा के वक्‍त उन्‍हें यह फूल अर्पित करने से …

Read More »

सूर्य देव उपासना से पूरे होंगे सभी काम

रविवार के दिन सूर्य देव की आराधाना से मान सम्मान मिलता है. इस दिन व्रत रखने से सूर्यदेव शीघ्र प्रसन्न होते हैं. अगर आपके मन में कई सारी इच्छाएं और मनोकामनाएं हैं, तो आप उनको पूरा करने रविवार का व्रत करें. सूर्य देव की कृपा के लिए रविवार का व्रत सबसे श्रेष्ठ माना जाता है, क्योंकि ये व्रत सुख और …

Read More »

हस्तरेखा से जानें कब आएगा धन

आपके हाथ की रेखाएं भी काफी कुछ बताती हैं. ज्योतिष और हस्तरेखा के अनुसार रेखाएं यह भी बताती हैं कि वह धनवान बनेगा या नहीं. इस बात में कुछ सच्चाई तो है कि आपके हाथ की लकीरें आपकी किस्मत का हाल बताती हैं. इन लकीरों में किस्मत से जुड़े कई रहस्य निहित रहते हैं. ज्यादातर लोग यही जानना चाहते हैं …

Read More »

चिंतन-मनन / कैसे जानेंगे कि आप ताकतवर हैं या कमज़ोर

हमलोगों में एक बड़ी ही अजीब बात है अगर सामने वाला अपने से कमज़ोर दिखता है तो हम उसकी छोटी सी गलती पर भी भड़क उठते हैं और मार-पीट करने तक के लिए तैयार हो जाते हैं. इसके उलट अगर सामने वाला ताकतवर है तो उसकी बड़ी गलती पर भी खामोश रह जाते हैं. इसकी वजह है हमारी कमज़ोरी. हम …

Read More »

गंगोत्री-यमुनोत्री के विकास में मदद करेगी मोदी सरकार

नई दिल्ली . पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री प्रह्लाद पटेल ने कहा कि केंद्र सरकार गंगोत्री-यमुनोत्री तीर्थयात्रा अवसंरचना विकास योजना के लिए मदद प्रदान करेगी. जैसे ही राज्य सरकार की तरफ से इस बाबत डीपीआर आएगा, केंद्र मंजूरी प्रदान करेगा. लोकसभा में प्रश्नकाल के दौरान पटेल ने नैनीताल के सांसद अजय भट्ट के तारांकित प्रश्न के जवाब में यह बात कही. …

Read More »

चिंतन-मनन / ईश्वर को पाने के लिए प्रेम मार्ग से गुजरना होगा

प्रेम शक्ति भी है और आसक्ति भी. जब व्यक्ति का प्रेम कामना रहित होता है तो यह शक्ति होती है और जब प्रेम में किसी चीज को पाने का लोभ रहता है तो यह आसक्ति बन जाती है. सच्चा प्रेम वह होता है जो प्रेम में किसी प्रकार का लोभ और किसी चीज को पाने की कामना नहीं रखता है. …

Read More »

रामलला मंदिर के पुजारी सत्येंद्र दास ने कहा, प्रसाद पर लगा प्रतिबंध हटना चाहिए

अयोध्या . रामलला मंदिर के पुजारी सत्येंद्र दास के मुताबिक, इस दौरान रोजाना ठाकुर जी की ड्रेस दिन के हिसाब के रंगों में बदली जाती है. साथ ही कलश स्थापना कर नव ग्रहों का आह्वान होता है. पेड़ा,मेंवा लड़डू आदि का भोग लगता है. इसके साथ ट्रस्ट के पदाधिकारी और भव्यता बढ़ने के लिए जो जोड़ना चाहते है,उस भी जोड़ा …

Read More »

राम जन्मभूमि में नवरात्रि पर आरती में शामिल हो सकेंगे श्रद्धालु

रामलला की मूर्तियों को अस्थायी मंदिर से 200 मीटर की दूरी पर स्थापित की जाएगी इलाहाबाद . राम नवमी त्योहार के दौरान अगले महीने रामजन्मभूमि परिसर में पहली बार श्रद्धालु आरती में शामिल हो सकेंगे. रामलला की मूर्तियों को वर्तमान में अस्थायी मंदिर से 200 मीटर की दूरी पर स्थापित करने की व्यवस्था की जा रही है. भगवान राम के …

Read More »

तिरुपति मंदिर में 17 मार्च से टोकन से दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु

हैदराबाद . देशभर में फैले कोरोनावायरस का असर मंदिरों में भी दिखने लगा है. सावधानी बरतते हुए लोग अधिक भीड़-भाड़ वाली जगहों में जाने से बच रहे हैं. इसी बीच आंध्रप्रदेश में स्थित तिरुमाला के भगवान वेंकेटेश्वर मंदिर में भी इसका असर देखने को मिल रहा है. केंद्र और राज्य सरकार की एडवाजरी का पालन करते हुए तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम …

Read More »

खरमास शुरू, 15 अप्रैल से बजेगी शहनाई, अप्रैल माह में 6 दिन व मई और जून में भी है लग्न

इस वर्ष 16 जनवरी से शुरू हुए विवाह के शुभ मुहूर्त पर एक बार फिर से ब्रेक लग गया है. होली के त्योहार मनाने के तीन दिन बाद ही 14 मार्च को खरमास की शुरुआत हो गई. इससे अब समाज में होने वाली शादी विवाह आदि के कार्यों पर अगले एक महीने तक यानी 13 अप्रैल तक रोक लग गई …

Read More »

चिंतन-मनन / परमात्मा का दिव्य उपहार है जीवन

मानव जीवन परमात्मा का दिव्य उपहार है. जिंदगी को जीना सीखें. कुछ लोग जिंदगी को जीते हैं, कुछ लोग काटते हैं. जिसको जीना और जाना आ गया वह जीवन में सफल हो गया. हे मनुष्य एक दिन भी जी, अटल विश्वास बनकर जी. ‘ब्राह्मो मुहूर्ते बुध्येत, धर्मार्थों चातुचिन्तयेत्?’ अर्थात्? व्यक्ति ब्रह्म मुहूर्त में जागे और धर्म एवं अर्थ के विषय …

Read More »

हारे का सहारा खाटू श्याम हमारा : अग्रवाल

यहां फाल्गुन माह के शुक्ल पक्ष की द्वादशी को श्याम बाबा का विशाल वार्षिक मेला भरता है जिसमें देश -विदेशों से आये करीबन 25 से 30 लाख श्रृ़द्धालु शामिल होते है. इस मंदिर में भीम के पौत्र और घटोत्कव के पुत्र बर्बरीक की श्याम यानी कृष्ण के रूप में पूजा की जाती है. इस मंदिर के लिए कहा जाता है …

Read More »

चार्टर प्लेन से आएगा रामलला का बुलेटप्रूफ अस्थाई मंदिर

अयोध्या . श्रीराम जन्म भूमि पर गर्भगृह में विराजमान रामलला की सुरक्षा से सरकार कोई समझौता करने को तैयार नहीं है. इसी लिए गृह मंत्रालय ने गोपनीय स्थान पर बुलेट प्रूफ फाइबर का अस्थाई मंदिर बनवाने का निर्णय लिया है. फाइबर के बने इस अस्थाई ढ़ांचे को सुरक्षा के सभी फीचरों से लैस किया जा रहा है. इस मंदिर पर …

Read More »

चिंतन-मनन / इच्छा का लक्ष्य है खुशी

बुरी आदत को छोड़ने की असमर्थता तुम्हें तकलीफ देती है. जब तुम बहुत पीड़ित होते हो, वह व्यथा तुम्हें उस आदत से छुटकारा दिलाती है. जब तुम अपनी कमियों से व्यथा महसूस करते हो, तब तुम साधक हो. पीड़ा तुम्हें आसक्ति से दूर करती है. यदि अपने दुर्गुणों को हटा नहीं सकते, तो उन्हें विस्तृत कर दो. चिन्ता, अभिमान, प्रोध, …

Read More »

पीले रंग को इसलिए मानते हैं शुभ

आमतौर पर लोग शुभ कार्यों में पीले रंग के वस्त्र धारण करते हैं. ज्योतिष में भी पीले रंग को खास महत्व दिया गया है. पीले रंग का संबंध गुरु बृहस्पति से भी माना गया है.यह सूर्य के चमकदार हिस्से वाला रंग है. यह मुख्य रंगों का हिस्सा है और यह रंग स्वभाव से गर्म और ऊर्जा पैदा करने वाला होता …

Read More »

घर से हटा दें नकारात्मक ऊर्जा वाली वस्तुएं

जीवन में सभी खुशहाली चाहते हैं पर कई बार हमें काफी प्रयास के बाद भी सफलता नहीं मिलती. वास्तुशास्त्र के अनुसार कुछ चीजों से घर में नकारात्मकता आती है. इन नकारात्मक ऊर्जा वाली वस्तुएं घर में रखने से मनुष्य को दुर्भाग्य और गरीबी का सामना भी करना पड़ जाता है. ऐसी चीजों को भूलकर भी घर में नहीं रखना चाहिए. …

Read More »

रोटी भी बदल सकती है किस्मत, एक बार आजामकर देखें

रोटी, कपड़ा और मकान यह इंसान की 3 सबसे पहली जरुरत है. रोटी के कुछ ऐसे उपाय हमें किताबों में मिलते हैं जो आश्चर्य में डाल देते हैं. आइए जानते हैं कुछ ऐसे टोटके रोटी के, जो हमारा नसीब भी बदल सकते हैं. घर की रसोई में पहली रोटी सेंकने के बाद उसमें शुद्ध घी लगाकर चार टुकड़े कर लें …

Read More »

माणिक्य पहनने से पहले रखें ये सावधानियां

रत्नों का हमारे मन और शरीर पर विशेष प्रभाव रहता है. इससे भाग्य भी बदल जाता है, इसलिए ग्रहों की समस्या होने पर रत्न पहनने की सलाह दी जाती है. रत्न पहनते समय इस बात का ध्यान रखें कि वह सही हो क्योंकि गलत रत्न के विपरीत प्रभाव पड़ते हैं. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माणिक्य रत्न सूर्य का प्रतिनिधित्व करता …

Read More »

चिंतन-मनन / जीव परमेश्वर की परा शक्ति

जीव परमेश्वर की परा प्रकृति (शक्ति) है. अपरा शक्ति तो पृथ्वी, जल, अग्नि, वायु, आकाश, मन, बुद्धि तथा अहंकार जैसे विभिन्न तत्वों के रूप में प्रकट होती है. भौतिक प्रकृति के ये दोनों रूप-स्थूल (पृथ्वी आदि) तथा सूक्ष्म (मन आदि) अपरा शक्ति के ही प्रतिफल हैं. जीव जो अपने विभिन्न कार्य के लिए अपरा शक्तियों का विदोहन करता रहता है, …

Read More »

चिंतन-मनन / नित अभ्यास से दर्शन कर सकते हैं ईश्वर का

सभी शास्त्र कहते हैं कि बिना भगवान को प्राप्त किये मुक्ति नहीं मिल सकती है. इसलिए भगवान की तलाश के लिए कोई व्यक्ति मंदिर जाता है तो कोई मस्जिद, कोई गुरूद्वारा, तो कोई गिरजाघर. लेकिन इन सभी स्थानों में जड़ स्वरूप भगवान होता है. अर्थात ऐसा भगवान होता है जिसमें कोई चेतना नहीं होती है. असल में भगवान की चेतना …

Read More »

499 साल बाद चार ग्रहाें की चाल लेकर आ रही होली, भद्रा के बजाय सर्वार्थ सिद्धि याेग में मनेगी

499 साल बाद चार ग्रहों की चाल होली पर्व के साथ देश में सुख-समृद्धि व शांति का संयाेग लेकर आ रही है. हिंदी पंचांग में 9 मार्च को फाल्गुन पूर्णिमा साेमवार के दिन होलिका दहन किया जाएगा. दूसरे दिन मंगलवार को होली खेली जाएगी. होली के दिन गुरु व शनि का विशेष याेग बन रहा है. यानी दाेनाें ग्रह अपनी-अपनी …

Read More »

होलाष्टक में बंद होंगे शुभ संस्कार : होली के आठ दिन पहले से शुरु होता है होलाष्टक

भोपाल. होली के पर्व से आठ दिन पहले शुरु होने वाले होलाष्टक में शुभ संस्कार बंद हो जाते हैं. होलाष्टक को अशुभ मानने की मान्यता के चलते आठ दिनों तक शुभ संस्कार नहीं किये जाते हैं. इस दौरान पूजा-पाठ करना ही श्रेष्ठ माना जाता है. होलाष्टक दो मार्च से प्रारंभ हो रहा है, जो नौ मार्च यानी होलिका दहन तक …

Read More »

ग्रहों ने बदली चाल राजनीतिक क्षेत्र में होगी भारी उथल-पुथल

भोपाल . ज्योतिषियों के अनुसार 28 फरवरी की रात 10:19 बजे ग्रहों की चाल बदल जाएगी. शुक्र ग्रह, मीन राशि से निकलकर मेष राशि में प्रवेश करेगा. जिसके कारण देश में राजनीति के क्षेत्र में भारी उथल-पुथल होने की संभावनाएं बन गई हैं. ज्योतिषियों के अनुसार शुक्र ग्रह जीवन तथा ऊर्जा शक्ति को प्रभावित करने वाला ग्रह है. किसी व्यक्ति …

Read More »

रंग भी बताता है व्यक्तित्व : लाल रंग को पसंद करने वाले लोग जीवन को भरपूर आनंद के साथ जीना पसंद करते हैं

रंगों का भी हमारे जीवन में अहम स्थान है. रंगों को लेकर सबकी अपनी अलग-अलग पसंद होती है. ऐसा माना जाता है कि लोगों के पसंदीदा रंग केवल उनकी खुशी ही नहीं, बल्कि उनके व्यक्तित्व के बारे में भी जानकारी देते हैं. आप किसी भी इंसान के पसंदीदा रंग के आधार पर उसकी पूरी शख्सियत का अंदाजा लगा सकते हैं. …

Read More »

आदिकाल से ही इसलिए चढ़ाए जाते हैं नारियल और नींबू

आदिकाल से ही दुनिया के लगभग सभी धर्मों में बलि देने की प्रथा मौजूद रही है हालांकि ईश्वर भाव का भूखा होता हैं. आजतक किसी ने भगवान को कभी किसी वस्तु का उपभोग करते हुए नहीं देखा है. भारत में भी कई जगहों पर देवी देवताओं को जानवरों की बलि दी जाती रही है. परन्तु क्या आप जानते हैं कि …

Read More »

चंद्रमा से बनने हैं कई प्रकार के योग / सीधा असर व्यक्ति के मन और संस्कारों पर

चंद्रमा पृथ्वी पर सबसे ज्यादा असर डालने वाला ग्रह है. इसका सीधा असर व्यक्ति के मन और संस्कारों पर पड़ता है. इसलिए चंद्रमा से बनने वाले एक-एक योग इतने ज्यादा महत्वपूर्ण होते हैं. चंद्रमा से तीन प्रकार के शुभ योग बनते हैं- अनफा, सुनफा और दुरधरा इन तीनों में से एक योग भी अगर कुंडली में हो तो व्यक्ति को …

Read More »