Thursday , 25 April 2019
Breaking News

नंदन निलेकणि के नेतृत्व में 5 सदस्यीय पैनल का किया है गठन, फिनटेक पर 3 महीने में आएगी रिपोर्ट

नई दिल्ली. आरबीआई ने फिनटेक के जरिए डिजिटल पेमेंट को और बेहतर बनाने एवं वित्तीय समावेशन को बढ़ाने के लिए एक 5 सदस्यीय पैनल का गठन किया है.  इस पैनल का नेतृत्व नंदन निलेकणि को सौंपा गया है, जो पैनल के चेयरमैन हैं. इस पैनल को गठित किए जाने के बारे में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्तिकांत दास ने सोमवार को जानकारी दी.  उन्‍होंने कहा कि इस पैनल से कहा गया है कि वो अगले तीन महीनों के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंप दे.

फिनटेक अपनाने के मामले में भारत दूसरे नंबर पर

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि फिनटेक को अपनाने के मामले में भारत दुनिया में दूसरे नंबर पर है. फिनटेक की वजह से देश में बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर पैदा हुए हैं. शक्तिकांत दास ने ये बातें नई दिल्ली में आयोजित ‘फिनटेक कॉन्क्लेव 2019’ को संबोधित करते हुए कहीं. दास ने कहा कि फिनटेक क्रांति में भारत सबसे आगे है.

नीति आयोग ने किया फिनटेक सम्‍मेलन का आयोजन

बता दें कि नीति आयोग ने सोमवार को राजधानी दिल्ली में फिनटेक सम्मेलन का आयोजन किया. इस सम्मेलन का उद्घाटन आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास ने किया. इस सम्मलेन में सरकार और आरबीआई के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ विभिन्न वित्तीय संस्थानाओं के करीब 300 प्रतिनिधि शामिल हुए.

5 वर्षों में इलेक्ट्रॉनिक पेमेंटस में 9 गुना बढ़ोत्तरी

दास ने सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले 5 वर्षों में इलेक्ट्रॉनिक पेमेंटस (ई-भुगतान) में 9 गुना बढ़ोत्तरी दर्ज हुई है. वहीं, सात नए पेमेंट्स बैंक को आरबीआई ने मंजूरी दी है. इन बैंकों ने अपना ऑपेरशन शुरू कर दिया है. उन्होंने बताया कि Fintech सेक्टर के लिए एक रेगुलेटरी फ्रेमवर्क की जरूरत    है, ताकि ग्राहकों और हितधारकों की रक्षा की जा सके.

भारत में पिनटेक अपनाने की दर है 52 फीसदी

ग्लोबल सर्वे के मुताबिक फिनटेक को अपनाने में भारत दुनिया में दूसरे स्थान पर है. भारत में फिनटेक को अपनाने की दर 52 फीसदी है. रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में इस समय 1218 फिनटेक फर्म काम कर रही हैं, जिनके कारण बड़े पैमाने पर रोजगार पैदा हुए हैं. फिनटेक की बदौलत ही भारत में निवेश के लिए एक स्वस्थ प्रतिस्पर्धा भी शुरू हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Inline
Inline